पितृपक्ष को लेकर तेजस्वी यादव ने क्यों किया सुशील मोदी पर हमला?

0
75

एक बार फिर बिहार (Bihar) विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने बिहार मे बढ़ती हुई घटनाओ को देखते हुए सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा है | उन्होंने अपने ट्वीट (Tweet) में कटाक्ष करते हुए लिखा है कि पितृपक्ष आ रहा है और अब डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) से अपराधियों के सामने विनती कराने का वक्त आ गया है | तेजस्वी यादव ने अपने ट्वीट में लिखा, बिहार में चहुंओर हाहाकार, हत्या, दुराचार, चीत्कार, बलात्कार, शहर में दहशत, गांव में ख़ौफ़, दिन में औसतन 50 मर्डर, सीएम मस्त, क़ानून व्यवस्था पस्त | मुख्यमंत्री जी, अपराधी आपको खुली चुनौती दे रहे हैं | पितृपक्ष आने वाला है अपने डिप्टी सुशील मोदी से अपराधियों को विनती करवा दीजिए |

बिहार में आपराधिक घटनाएँ (Crime) बढ़ती ही जा रही है | इस बात को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) ने भी मान लिया है | यही वजह रही है कि बिहार सरकार कानून-व्यवस्था (Law and Order Condition in Bihar) को लेकर हाल के दिनों में कठघरे में खड़ी रही है | खास तौर पर विपक्ष (Opposition) इसको मुद्दा बनाता रहा है |

तेजस्वी यादव ने सुशील मोदी को क्यों घेरा ?

बता दें कि तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने सुशील मोदी (Sushil Modi) को इसलिए घेरा है क्योंकि उन्होंने पिछले वर्ष 24 सितंबर को गया में अपराधियों से हाथ जोड़कर अपील की थी कि पितृपक्ष में अपराध न करें | सुशील मोदी ने कहा था कि, मैं अपराधियों से भी हाथ जोड़कर आग्रह करूंगा कि कम से कम पितृपक्ष में छोड़ दीजिए | बाकी दिन तो आप कोई मना करे न करे, कुछ न कुछ करते रहते हैं और पुलिस वाले लगे रहते हैं| लेकिन कम से कम ये 15-16 दिन, ये जो धार्मिक उत्सव है | इस उत्सव में कोई एक काम ऐसा न करिए जिससे बिहार की प्रतिष्ठा, गया जी की प्रतिष्ठा को नुकसान हो और यहां आने वाले लोगों को शिकायत करने का मौका मिले |

दो दिन पहले ही बिहार के सीएम ने भी सूबे में बढ़ते अपराध पर बेतुका बयान
दिया !

वहीं, महज दो दिन पहले ही बिहार के सीएम ने भी सूबे में बढ़ते अपराध पर बेतुका बयान देते हुए कहा था कि अपराध तो लोगों के स्वभाव में है | किसी को रोक नहीं सकते हैं. कौन जानता है कि किसका कब क्या होगा? मुख्यमंत्री ने कहा कि जो चिंता नहीं करेगा वो बुलंदी पर जाएगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here