Sunday, January 24, 2021

सदन में तेजस्वी बोले, घर में हमे बड़ों का सम्मान करना सिखाया गया है तो नीतीश खुद को रोक नहीं पाए और जानिए क्या कर दिया…

Must read

अफगानिस्तान में पांच वरिष्ठ सदस्यों सहित 16 आतंकवादी ढ़ेर

काबुल:  अफगानिस्तान के नंगरहार प्रांत में सुरक्षाबलों के अभियान में तालिबान इस्लामी समूह के 16 आतंकवादी मारे गये हैं।क्षेत्रीय अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया...

बीमार RJD प्रमुख लालू यादव से मिलने RIMS पहुंची बेटी मीसा भारती

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की तबीयत (Lalu Prasad Yadav Health) स्थिर बनी हुई है, डॉक्टरों की टीम लगातार उनकी निगरानी में जुटी है।...

नरोत्तम मिश्रा ने भाजपा को लेकर कही ये बात, जानिए क्या

भोपाल,  मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पार्टी की वरिष्ठ नेता उमा भारती के शराबबंदी को लेकर दिए गए बयान के परिप्रेक्ष्य में...

इंदौर जिले जेल मामले में पुलिस ने शुरू की जांच, जानें मामले

इंदौर, मध्यप्रदेश की इंदौर जिला जेल में दो पक्षों के बीच हुए विवाद के मामले में पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर...

नई सरकार के गठन के बाद बिहार विधानसभा का पहले सत्र का आज अंतिम दिन है। सदन में अंतिम दिन तेजस्वी यादव का 56 मिनट का संबोधन हुआ। इस दौरान सत्ता पक्ष पर जमकर हमला बोला। खास तौर पर नीतीश कुमार पर पूरे संबोधन के दौरान उग्र शब्दों का इस्तेमाल करते नजर आए। शुरुआत से ही तेजस्वी यादव सरकार के भ्रष्टाचारों को गिनाते नजर आए। कोरेाना काल से लेकर चुनाव प्रचार के दौरान किए गए कटाक्षों को बारी-बारी से गिनाते नजर आए।

पूरे संबोधन के दौरान नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव आक्रमक रूख अपनाए रहे। इस दौरान उन्होंने कहा कि हम तो नीतीश जी को चाचा बाेलते हैं, हमें तो माता-पिता ने सिखाया है कि बड़ों का सम्मान करो। हम तो आदरणीय नीतीश जी को चाचा से संबोधन करते थे, चाचा से संबोधन करते थे, लेकिन सदन में कोई चाचा-भतीजा तो होता नहीं है। प्रोटोकॉल का फॉलो करते हैं। बस फिर क्या था, तेजस्वी के इतना कहते ही पूरा सदन ठहाकों से भर गया। खासतौर पर शांत होकर संबोधन सुन रहे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी खुद को रोक नहीं पाए और ठहाके लगाकर हंसने लगे। नीतीश की हंसी से ये स्पष्ट हो गया कि तेजस्वी जो कह रहे हैं ये सिर्फ कहने की बातें हैं और उनके आचरण में ऐसा कुछ भी नहीं है। प्यारे बिहारवाी को धन्यवाद देते हैं।संबोधन में तेजस्वी यादव ने कहा कि हम पहले तो प्यारे बिहारवासी को धन्यवाद देते हैं, जिन्होंने बदलाव का जनादेश दिया। ये तो हमेशा चोर दरवाजे से आते रहे हैं। पूरे चुनाव के दौरान सिर्फ मुद्दों की बात करते रहे, लेकिन प्रधानमंत्री जी चुनाव में आए जरूर, लेकिन 31 साल के नौजवान के पीछे पड़े रहे और पता नहीं किन-किन नामों से हमें संबोधन किया।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

Delhi : राशन लेने के दौरान फिंगर प्रिंट ही नहीं, बुजुर्गों का नहीं मैच हो रहा रैटिना

नई दिल्ली :  ई-पोस द्वारा राशन वितरण करने के दौरान नेटवर्किंग संबंधी परेशानियों की बातें लगातार सामने आ रही हैं। वही पायलेट प्रोजेक्ट में...

हिंदू पुजारियों पर Corona पीड़ितों की अंत्येष्टि के लिए ज्यादा शुल्क वसूलने का आरोप

दक्षिण अफ्रीका में कुछ हिंदू पुजारियों (Hindu priests) पर कोविड-19 के कारण मरने वाले लोगों की अंत्येष्टि के लिए अधिक शुल्क वसूले जाने के...

कारगिल में पर्यटन की हैैं अपार संभावनाएं : पटेल

नई दिल्ल : हाल ही में जम्मू-कश्मीर से अलग होकर लद्दाख केन्द्रशाषित प्रदेश बना है। इससे पहले कभी भी लद्दाख को खासकर कारगिल में...

Farmers Protest : महाराष्ट्र में उमड़ा किसानों का सैलाब, ठाकरे-पवार देंगे समर्थन

नई दिल्ली : केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ सोमवार को मुंबई के आजाद मैदान में होने वाली रैली में शामिल होने...

PM मोदी NCC कैडेट्स से मिले, Corona काल में अभूतपूर्व सहयोग को सराहा

नई दिल्ली : पीएम नरेंद्र मोदी ने आज गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेने वाले NCC कैडेट्स से मिले। उन्होंने इस अवसर पर संबोधित...