भाजपा ने तय किया कानपुर की गोविंदनगर सीट से उम्मीदवार, ये रहा नाम

0
45

गोविंदनगर विधानसभा उपचुनाव में भाजपा में जारी टिकट की जोर आजमाइश का पटाक्षेप हो गया। गोविंदनगर में दावेदारों के बीच चली लंबी पालेबंदी के बाद बीजेपी नेतृत्व ने उत्तर जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी को प्रत्याशी बनाया है। लोकसभा और विधानसभा चुनाव लड़ने की ख्वाहिश में सुरेंद्र मैथानी को तीसरे प्रयास में सफलता हाथ लगी है। मैथानी के टिकट से भाजपा के कार्यकर्ता भी खुश नजर आए। वहीँ समाजवादी पार्टी ने रामपुर की विधानसभा सीट से सांसद आजम खान की पत्नी तंजीन फातिमा को प्रत्याशी चुना है।

गोविंदनगर विधानसभा उपचुनाव को लेकर लंबे समय से भाजपा में टिकट को लेकर दावेदारों के बीच जोर आजमाइश चल रही थी। इसमें जनसंघ के जमाने से रहे वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के साथ कुछ समय पहले ही दूसरे दल छोड़कर पार्टी में आए चेहरों के नाम लिए जा रहे थे। इस बीच दावेदारों में प्रदेश से लेकर देश की राजधानी तक भाजपा के दिग्गजों के बीच मंथन चलता रहा। रविवार दोपहर ढाई बजे बीजेपी नेतृत्व ने सुरेंद्र मैथानी की प्रत्याशिता पर मुहर लगा दी। इसके बाद से ही सुरेंद्र मैथानी के काकादेव स्थित आवास पर कार्यकर्ताओं की भीड़ लगना शुरू हो गई।

तीसरी बार प्रयास में मैथानी ने सफलता पायी

उत्तर जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी ने टिकट की दावेदारी में तीसरे प्रयास में सफलता हासिल की है। इससे पहले सुरेंद्र मैथानी 2017 के विधानसभा चुनाव में किदवईनगर से दावेदारी कर रहे थे। लेकिन नेतृत्व ने यहां पर महेश त्रिवेदी को टिकट दे दिया था। इसके बाद लोकसभा चुनावों के दौरान भी मैथानी ने खूब लामबंदी की, लेकिन तत्कालीन कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचौरी नेतृत्व की पसंद बनकर उभरे। महापौर के चुनाव में भी सुरेंद्र मैथानी ने टिकट के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाया था। तब भी उन्हें निराशा ही हाथ लगी। इसके बाद गोविंदनगर विधानसभा उपचुनाव में मैथानी नेतृत्व की पहली पसंद बनकर उभरे हैं। यहां पर नेतृत्व ने मैथानी को अपने से सशक्त रहे क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेंद्र सिंह पर वरीयता दी।

सफल रहा है सुरेंद्र मैथानी का कार्यकाल

अगर संगठन के लिहाज से देखा जाए तो सुरेंद्र मैथानी का कार्यकाल काफी सफल रहा। भाजपा में जिला कार्यसमिति सदस्य से लेकर नगर अध्यक्ष तक कई पदों पर रह चुके हैं। वहीँ सुरेंद्र मैथानी की जिलाध्यक्षी में भाजपा में प्रधानमंत्री के तत्कालीन उम्मीदवार रहे। वहीँ हाल ही में हुई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कल्याणपुर में सफल रैली हुई थी। संगठन के दो बार हुए चुनावों में भी जिलाध्यक्ष के रूप में मैथानी कार्यकर्ताओं की पसंद रहे। 1989 में भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने वाले सुरेंद्र मैथानी ने व्यापारी राजनीति में भी सक्रियता दिखाई। फिलहाल सुरेंद्र कानपुर उद्योग व्यापार मंडल में वरिष्ठ उपाध्यक्ष हैं।

मोहम्मद असलम की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here