Saturday, March 6, 2021

अवैध निर्माण रोकने के लिए सड़कों पर उतरे छात्र, फिर जो हुआ

Must read

तापसी पन्नू ने जज को लगाई फटकार, रेप के आरोपी से पूछा था- शादी करोगे?

मुंबई, बॉलिवुड ऐक्ट्रेस तापसी पन्नू अपनी फिल्मों के अलावा सोशल मीडिया पर भी काफी ऐक्टिव रहती हैं। तापसी अक्सर सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों पर...

होली पर रिलीज होगी खेसारी-काजल की ‘सईयां अरब गईले ना’

मुंबई,  भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्टार खेसारी लाल यादव और अभिनेत्री काजल राघवानी की जोड़ी वाली फिल्म 'सईयां अरब गईले ना' होली के अवसर पर...

ट्रायथलाॅन अकादमी की खिलाड़ी हुआ चयन

महाष्ट्र के मुम्बई में 5 से 8 मार्च तक आयोजित 25वीं नेशनल (सीनियर, जूनियर एवं सब-जूनियर) रोड सायकिलिंग चैम्पियनशिप के लिए मध्य प्रदेश राज्य...

रामायण विश्‍वमहाकोश के प्रथम संस्‍करण का विमोचन करेंगे योगी

लखनऊ भारतीय संस्‍कृति और दुनिया भर के राम भक्‍तों के लिये गौरव का प्रतीक बनने जा रहे रामायण विश्‍वमहाकोश का प्रथम संस्‍करण प्रकाशन के...

उत्तर प्रदेश के बाँदा में आज छात्रों के द्वारा चक्का जाम करने का काम किया गया है। रोड पर धरना प्रदर्शन कर जाम लगने वाले ये सभी छात्र बाँदा जनपद के पंडित जवाहर लाल नेहरू पोस्ट ग्रेजुएट कालेज के है।आज जो इनके द्वारा जाम लगने का काम किया है वह अपने विद्यालय के हित के लिए है। प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने जानकारी देते हुए बताया कि आज हम लोग इसलिए सड़कों पर उतरे हैं की स्थानीय दबंगों के द्वारा हमारे विद्यालय के गेट के बाहर अवैध तरीके से कब्जा किया जा रहा है और निर्माण कार्य चालू है इस अवैध निर्माण को हटाए जाने के लिए हम लोग यह प्रदर्शन कर रहे हैं क्योंकि यदि भविष्य में यह अवैध निर्माण हो गया तो विद्यालय के छात्र छात्राओं को आवागमन में काफी दिक्कतें आएंगी इसीलिए आज मजबूरन हम लोगों को सड़क पर उतर कर प्रदर्शन करना पड़ रहा है।

ये भी पढ़ें-रोडवेज बस में यात्री का मिला शव, मचा हड़कंप

ताकि यहां के जिला प्रशासन को यह पता चल सके कि यहां पर अवैध निर्माण किया जा रहा है और इसे तत्काल प्रभाव से रोका जाए अगर यहां के जिला प्रशासन की कार्यप्रणाली की बात करें तो इसके पहले भी प्राइवेट बस माफियाओं के द्वारा महाविद्यालय के गेट पर बसें खड़ी की जाती थी जिसको लेकर कई बार छात्रों के द्वारा लिखित एप्लीकेशन भी दी गई थी लेकिन प्रशासन के कान में जूं तक नहीं रखी थी उसके बाद जब हम छात्रों के द्वारा सड़कों पर उतरने का काम किया गया तब जिला प्रशासन ने एक्शन लेते हुए अवैध बसों को हटाने का काम किया था तो कहीं ना कहीं इससे साफ तौर पर यह साबित होता है कि हमारे जनपद का प्रशासन यह चाहता है की लोग सड़कों पर उतरे तभी उससे उनको जानकारी मिलेगी और आगे की कार्रवाई करेंगे।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

महिला अध्यापिका से मारपीट करने वाले अभिभावक को जेल

मुजफ्फरनगर में एक व्यक्ति को प्राथमिक विद्यालय की अध्यापिका के साथ अभद्रता करना भारी पड़ गया जिसके चलते पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर...

शिवराज के जन्मदिन को सेवा दिवस के रुप में मनाया

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ताओ और पदाधिकारियों ने आज प्रदेश भर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के जन्मदिन को सेवा दिवस के रूप में...

राज गोपाल सिंह वर्मा को प0 महावीर प्रसाद द्विवेदी पुरस्कार दिया जायेगा

उत्तर प्रदेश ‘राज्य कर्मचारी साहित्य संस्थान’ द्वारा पुरस्कार समिति की संस्तुति के आधार पर सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के पूर्व उपनिदेशक राज...

अवैध तरीकें से संचालित निजी अस्पताल

भदोही जिले से है जहां अवैध तरीके से संचालित हो रहे एक निजी अस्पताल में प्रसूता के नवजात बच्चे की मौत हो गई है...