Sunday, November 29, 2020

शिवपुरी के इस शिवा को देखते ही कौव्वे कर देते हैं हमला, ये रही वजह

Must read

यूपी में 2022 तक स्थापित होंगी 10700 मेगावाट क्षमता की सौर ऊर्जा परियोजनाएं : सीएम योगी

गोरखपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अक्षय ऊर्जा स्रोतों से बड़े पैमाने पर असीमित सौर ऊर्जा उत्पादन की दिशा में उत्तर...

हंगामे से शुरू हुआ विधानसभा का चुनाव, राजद के विधायकों ने किया वॉकआउट

बिहार में आज विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव हो रहा है। वही भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय जनता दल के विधायकों के बिच जबरदस्त मुकाबला...

बड़ी खबर : बुराड़ी जाने से प्रदर्शनकारी किसानों ने किया इनकार…

पंजाब से चले किसानों को दिल्ली आने की इजाजत मिल गई है। किसान सिंधु बॉर्डर से दिल्ली आ सकेंगे, किसान इस दौरान दिल्ली के...

Corona Vaccine पर चल रही कामों का जायजा लेंगे PM Modi, करेंगे तीन शहरों का दौरा

देशभर में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) पर चल रही काम का जायजा लेने पीएम मोदी (PM Modi) तीन शहरों का दौरा करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय...

राजकुमार यादव की रिपोर्ट

 

शिवपुरी (Shivpuri) । आपने इंसानों के बीच दुश्मनी तो खूब देखी होगी लेकिन क्या कभी आपने सुना है कि कौओं (Crows) की दुश्मनी भी खतरनाक हो सकती है। जी हां ऐसा ही एक वाक्य हुआ हैं मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के शिवपुरी जिले की बदरवास जनपद के स्थित एक होटल में जहां काम करने वाला युवक पिछले तीन साल से कौओं (Crows) की दुश्मनी झेल रहा है । ग्राम सुमैला में रहने वाला यह युवक जब काम पर आता है एवं जब वापिस घर जाता है तो बगैर लाठी के निकल ही नहीं सकता है, क्योंकि वो जब भी सड़क से निकलता है तो कौए (Crow) उस पर अटेक कर देते हैं। शानिवार को जब यह युवक बिना लाठी के सड़क पर निकला तो इसी बीच कौए ने सिर में दो जगह चोंच मारकर उसे चोटिल कर दिया ।

ग्राम सुमैला निवासी सिवा केवट बादरवास नगर में स्थित एक होटल में काम करता है। शिवा ने बताया कि लगभग तीन साल पूर्व जब में अपने गांव से बदरवास की तरफ आ रहा था तो रास्ते मे कौए का एक बच्चा एक जाली में फंसा हुआ नजर आया उसे जाली में फंसा देखकर शिवा ने उसे निकालने का प्रयास किया लेकिन कौए का बच्चा मर गया । शिवा बताता है उसके बाद से तो उसका सड़क पर निकलना मुश्किल हो गया। शुरुवात में जब कौओं ने हमला किया तो उसको समझ नहीं आया लेकिन बाद में उसे याद आया कि मेरे हाथ से कौए का बच्चा मरने की वजह से वे मेरे दुश्मन हो गए हैं।

क्या कहते हैं अधिकारी ..

कौए का दिमाग अन्य पक्षियों की तुलना में बड़ा होता है इसलिए इसकी याददास्त भी अच्छी होती है वह आसानी से किसी मानव के चेहरे ओर उसके व्यवहार की पहचान कर लेते हैं। वह उसे सालों साल तक नहीं भूलते हैं। यह अपने दोस्तों और दुश्मनो को भी अच्छी तरह से पहचानते हैं इसलिए यदि कोई कौए या उसके अंडों को नुकसान पहुचाए तो यह उस पर हमला भी कर देते हैं l

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

राज्यसभा उपचुनाव : सुशील मोदी 2 दिसंबर को करेंगे नामांकन, RJD के उम्मीदवार पर सस्पेंस

बिहार की एक राज्यसभा सीट के लिए हो रहे उपचुनाव में मतदान होगा या नहीं इस पर से सस्पेंस खत्म नहीं हो रहा है।...

CM नीतीश पर अमर्यादित टिप्पणी से नाराज JDU कार्यकर्ताओं ने तेजस्वी का पूतला फूंका

मुज़फ़्फ़रपुर ; विधानसभा में  नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ऊपर अभद्र टिप्पणी करने को लेकर पूरे बिहार में जगह जगह...

मुज़फ़्फ़रपुर में हाईवे पर लूटपाट करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 5 किलो गांजा और हथियार के साथ 5 अपराधी गिरफ्तार

  मुज़फ़्फ़रपुर : जिले के गायघाट पुलिस ने हाइवे लूटपाट गिरोह के पांच सदस्यों को हथियार व लूट के समान के साथ पकड़ा और इस...

उत्तराखंड : मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने किया सूर्याधार जलाशय का लोकार्पण

देहरादून : मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रविवार को स्वर्गीय गजेन्द्र दत्त नैथानी जलाशय सूर्याधार का लोकार्पण किया। इस झील के निर्माण पर 50.25...

Uttarakhand: 389 नए संक्रमित संक्रमित मिले, आठ की मौत, मरीजों की संख्या 74 हजार पार

देहरादून : उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे के दौरान 389 नए मामलों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई और 278 मरीज स्वस्थ होने...