Sunday, January 17, 2021

अब प्रियंका गांधी ने बैंक फ्रॉड को लेकर बीजेपी पर हल्ला बोला

Must read

अमेरिकी अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए Biden दे सकते हैं 19 खरब डॉलर

वाशिंगटन : अमेरिका के मनोनीत राष्ट्रपति जो बिडेन ने गुरुवार को कोरोना वायरस महामारी से बुरी तरह प्रभावित अमेरिकी अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में...

नई दिल्ली में आज से लगेगी कोरोना वैक्सीन, इन बातों का रखे ध्यान

नई दिल्ली, पूरे देश के साथ ही राजधानी दिल्‍ली में भी आज से कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और...

51 दिन हो गए हैं किसान आंदोलन को, जानिए अब क्या करेंगे किसान

आपको बता दें कि किसानों को धरना प्रदर्शन देते हुए 51 दिन हो चुके हैं मगर अभी तक किसानों की मांग पूरी नहीं हुई...

स्वछता के लिए Mathura Refinery ने उठाया ये बड़ा कदम

मथुरा , Mathura Refinery ने सामाजिक उत्तरदायित्व को निभाते हुए ब्रज के प्रमुख तीर्थस्थलों की स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए मथुरा वृन्दावन विकास प्राधिकरण को...

कांग्रेस राज्य सरकार बीजेपी पर वार करने से कभी नहीं चुकती | ऐसे में अब कांग्रेस की महामंत्री प्रियंका गाँधी वाड्रा ने एक बार फिर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है|
प्रियंका गाँधी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पर एक पोस्ट किया हैं | जिसमे प्रियंका गाँधी ने कहा की “देश की सबसे बड़ी बैंकिंग संस्था RBI कह रही है कि सरकार की नाक के नीचे बैंक फ़्रॉड बढ़ते जा रहे हैं। 2018-19 में ये चोरी और बढ़ गयी। बैकों को 72,000 करोड़ रुपए का चूना लग चुका है। लेकिन वो गारंटर कौन है जो इतने बड़े फ़्रॉड होने दे रहा है?”


बता दे कि एक रिपोर्ट के मुताबिक वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान देश में बैंक फ्रॉड के 6801 मामले सामने आए। इनमें 74% बढ़ोतरी हुई। फर्जीवाड़े की राशि 71,543 करोड़ रुपये तक पहुंच गई। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में यह आंकड़ा पेश किया है। रिपोर्ट के मुताबिक, वित्त वर्ष 2017-18 में 5916 मामले दर्ज किए गए थे, इनमें 41,167.04 करोड़ रुपए तक का फर्जीवाड़ा हुआ था। वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान सबसे ज्यादा फर्जीवाड़े के मामले सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में दर्ज किए गए हैं। इसके बाद निजी क्षेत्र और विदेशी क्षेत्र के बैंकों का स्थान आता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि राज्य सरकार द्वारा संचालित बैंकों में वित्त वर्ष 2018-19 में 3,766 फर्जीवाड़े की घटनाएं दर्ज हुईं, इनमें 64,509.43 करोड़ रुपए का फ्रॉड हुआ। वित्त वर्ष 2017-18 में ऐसे 2,885 मामले दर्ज किए गए और फ्रॉड की रकम का आंकड़ा 38,260.8 करोड़ रुपए रहा। फर्जीवाड़ा होने और बैंकों में उसका पता लगने के बीच की औसत अवधि 22 माह रही है। ऐसे में प्रियंका गाँधी ने भी ट्वीट कर राज्य सरकार पर सीधा निशाना साधा है |

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

देश में पहले दिन 1.91 लाख लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन, जानें कैसी रही शुरूआत

अभियान की शुरुआत के साथ लाखों जिंदगियां और रोजगार लीलने वाली इस महामारी के खात्मे की उम्मीद जगी है। भारत ने कोविशील्ड और कोवैक्सीन टीके...

जानिए Joe Biden शपथ के बाद 10 दिनों में क्या-2 करेंगे काम

वाशिंगटन : अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बिडेन के शपथ समारोह के बाद पहले दस दिनों में कोरोना वायरस संकट, आर्थिक चुनौतियों, नस्लीय भेदभाव...

Britain के कार्नवाल में होगा G-7 सम्मेलन, जलवायु परिवर्तन होगा विशेष मुद्दा

लंदन : ब्रिटेन के कॉर्नवॉल में 11 से 13 जून तक चलने वाले जी 7 शिखर सम्मेलन में विश्व के सात प्रमुख देशों के...

लखनऊ में विभूतिखंड गैंगवार के मददगार के ऊपर 25-25 हजार का ईनाम घोषित

लखनऊ के विभूतिखंड में अजीत सिंह की हत्या में शामिल शूटरों की मदद करने के आरोपी आजमगढ़ के अंकुर व बंधन पर पुलिस ने...

जानें पंचायत चुनाव के प्रत्याशियों की जमानत और चुनाव खर्चे कितने हुए तय?

उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव (UP Panchayat election) को लेकर अभी से ग्रामीण इलाकों में माहौल बनाने का काम शुरू हो गया है. प्रधान पद...