नरेंद्र मोदी ने पांच सालो में पहली बार की प्रेस कॉन्फ्रेंस, सवालों के अब भी नहीं दिए जवाब

0
116

लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण का प्रचार-प्रसार शुक्रवार की शाम खत्म हो गया | जिसके तुरंत बाद दिल्ली के बीजेपी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस की गयी | यह प्रेस कॉन्फ्रेंस इसलिए खास थी क्योकि पूरे पांच साल बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के साथ मौजूद थे | पूरे 5 साल के कार्यकाल में पीएम मोदी पर प्रेस कॉन्फ्रेंस न करने के आरोप लगते रहे थे, इसलिए इस कॉन्फ्रेंस में पीएम के होने ने सभी को चकित कर दिया।

पीएम मोदी ने हल्के फुल्के अंदाज़ में शुरुआत की। उन्होंने पत्रकारों से कहा ”आपके पास आने में थोड़ा समय लगा, क्योंकि मैं मध्य प्रदेश में था | इसके बाद शायद मेरे लिए अध्यक्ष जी ने मेरे लिया कोई काम नहीं रखा है |”

इसके बाद पीएम ने बहुत बड़ी भविष्यवाणी कर दी। उन्होंने कहा, “चुनाव शानदार रहा, एक सकारात्मक भाव से चुनाव हुआ | पूर्ण बहुमत वाली सरकार के पांच साल पूरे करके अब हम दोबारा पूर्ण बहुमत से जीतकर आ रहे हैं। शायद देश में ये बहुत लंबे अर्से के बाद हो रहा है | पीएम मोदी ने आगे कहा, ”मैं मानता हूं कि कुछ बातें हम गर्व के साथ दुनिया से कह सकते हैं | ये दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है, ये लोकत्रंत की ताकत दुनिया के सामने ले जाना हम सबका दायित्व है | हमें विश्व को प्रभावित करना चाहिए कि हमारा लोकतंत्र कितनी विविधताओं से भरा है | पिछली बार जब 2009 और 2014 में लोकसभा चुनाव हुआ था तो आईपीएल को बाहर ले जाना पड़ा था, आज जब चुनाव हुआ था तो रमजान भी चलता है, ईस्टर भी चलता है, स्कूल भी चलता है और सब आराम से होता है | मैं चुनाव के लिए निकला था तो देशवासियो को कहा था की में बस यहाँ आप सब का धन्यवाद करने आया हूँ | मेरे लिए यह चुनाव अभियान पांच साल में जो लोगो ने मेरा साथ दिया था, आशीर्वाद दिया , उसका धन्यवाद अभियान था | आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी मैं आप सब का धन्यवाद करने आया हूँ | साथ ही साथ हमे देश का आशीर्वाद चाहिए ताकि यह “साथ” आगे बड़े |”

नरेंद्र मोदी ने चुनावी सट्टा बाजार पर भी चुटकी ली। उन्होंने कहा “ईमानदारी की शुरुआत 17 मई को हुई थी | सट्टाखोरो का अरबो खरबो का नुकसान हुआ था क्योकि उस समय सट्टा बाजार कांग्रेस की 150 सीट के लिए चलता था और बीजेपी की 218 सीट के आसपास का चलता था और सब के सब डूब गए थे और इसके बाद ईमानदारी की शुरुआत 17 मई को हो गयी थी | सरकार बनना देश की जनता ने तय कर लिया है |”

हालांकि पीएम नरेंद्र मोदी ने अपनी इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में किसी भी पत्रकार के सवाल का जवाब नहीं दिया और न किसी और मुद्दे पर मोदी ने बात की | जो सवाल पूछे भी गए उसे उन्होंने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की ओर डाइवर्ट कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here