पाकिस्तान के हिस्से आया वो रिकॉर्ड कि हर पाकिस्तानी शर्मसार हो गया

0
47

पाकिस्तान ने दुनिया भर के लिए मिसाल कायम करते हुए अपनी आर्थिक स्थिति के बलबूते एक रिकॉर्ड कायम किया है । पाकिस्तान में इमरान खान (Imran khan) के सत्ता के आने के एक साल बाद ही पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति में ऐसा बदलाव हुआ है, जिसका किसी ने सोचा भी नही होगा । दरअसल, आर्थिक कंगाली (Economy Crisis) से जूझ रहे पाकिस्तान ने सबसे ज़्यादा कर्ज लेकर एक रिकॉर्ड कायम किया है । इसके बाद भी वो दुनिया (world) के सामने मदद की गुहार लगा रहा है । लेकिन कोई देश पाकिस्तान की मदद करने को राजी नही है ।

आंकड़ों के मुताबिक इमरान खान सरकार के एक साल के कार्यकाल के दौरान देश के कुल कर्ज में 7509 अरब (पाकिस्तानी) रुपये की वृद्धि हुई है । कर्ज का ये आंकड़ा इतना बढ़ गया है कि स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान ने कर्ज से जुड़े इन आंकड़ों की जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय को भिजवा दी है । स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के मुताबिक अगस्त 2018 से अगस्त 2019 के बीच पाकिस्तान ने 2804 अरब रुपये का कर्ज लिया है, जबकि घरेलू बैंकों से 4705 अरब रुपये का कर्ज लिया गया है । स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के आंकड़ों पर गौर करें तो पिछले दो महीने में पाकिस्तान की आर्थिक हालत सबसे ज्यादा खराब हुई है । दो महीनों के अंदर पाकिस्तान के कर्ज में 1.43 फीसदी का इजाफा हुआ है । पाकिस्तान के ऊपर मौजूदा कर्ज की बात करें तो यह बढ़कर 32,240 अरब रुपये है । अगस्त 2018 में यह कर्ज 24,732 अरब रुपये था ।

महंगाई ने भी छुआ आसमान

वहीं पाकिस्‍तानी रुपये की कीमत भी दिनों दिन गिरती जा रही है । पाकिस्तानी रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले अब तक के सबसे निचले स्तर पर आ गया है । एक अमेरिकी डॉलर के मुकाबले पाकिस्तान रुपया 152 के स्तर पर आ गया है । नतीजन मार्च 2019 में पाकिस्‍तान में महंगाई दर पिछले पांच साल के शीर्ष स्‍तर 9.41 फीसदी पर पहुंच गई थी । अप्रैल में यह 8.8 फीसदी दर्ज की गई । इसकी वजह से पाकिस्तान में महंगाई लोगों पर भारी पड़ने लगी है ।

पाकिस्तान मे दूध के दाम 180 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से बिक रहा था । वहीं सेब 400 रुपये किलो, संतरे 360 रुपये और केले 150 रुपये दर्जन बिकने लगे हैं । पाकिस्तान में मटन 1100 रुपये किलो हो गया है । मार्च के मुकाबले मई में प्याज 40%, टमाटर 19 % और मूंग की दाल 13% ज्यादा कीमत पर बिकी हैं तो गुड़, शक्कर, फल्लियां, मछली, मसाले, घी, चावल, आटा, तेल, चाय, गेंहू की कीमतें 10% तक बढ़ गई हैं ।

विषमता की खाई भी और गहरी

पाकिस्तान में प्रति व्यक्ति आय भी प्रति वर्ष 1,652 डॉलर के घटकर 1,497.3 डॉलर पर आ गई है । आर्थिक सर्वे के अनुसार पाकिस्तान में विषमता की खाई भी और गहरी हुई है । पाकिस्तान के आर्थिक सलाहकार ने कहा है कि पाकिस्तान क़रीब 100 अरब डॉलर का विदेशी क़र्ज़ वापस करने की स्थिति में नहीं है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here