मोदी के कश्मीर फैसले से यूँ तड़प उठा पाकिस्तान

0
80

मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर को लेकर ऐतिहासिक ऐलान किया | सरकार ने जम्मू-कश्मीर को स्पेशल स्टेटस देने वाले संविधान के आर्टिकल 370 और 35A को खत्म कर दिया है | जम्मू-कश्मीर को अब केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया है | लद्दाख को भी कश्मीर से अलग कर केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया गया है | गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में कश्मीर को लेकर तीन बड़े ऐलान किए | मोदी सरकार के इस फैसले पर दुनिया भर से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं |
इस फैसले के बाद सबसे ज्यादा तकलीफ पकिस्तान को हुई है | पाकिस्तान आर्टिकल 370 पर मोदी सरकार के कदम का विरोध कर रहा है | कोई भी एकतरफा कदम कश्मीर का ‘स्टेटस’ नहीं बदल सकता | इस बीच कश्मीर के मौजूदा हालात पर चर्चा के लिए पाकिस्तान असेंबली ने मंगलवार को ज्वॉइंट सेशन भी बुलाया है |

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी करते हुए कहा, ‘संयुक्त राष्ट्र सिक्योरिटी काउंसिल (UNSC) में जम्मू-कश्मीर की स्थिति को विवादास्पद माना गया है | लिहाजा भारत सरकार का ये एकतरफा फैसला है और ये फैसला जम्मू-कश्मीर और पाकिस्तान के लोगों को स्वीकार नहीं है |’ पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के बयान के मुताबिक, कश्मीर विवाद के दूसरे पक्ष के रूप में पाकिस्तान आर्टिकल 370 को खत्म करने वाले भारत के इस फैसले को काउंटर करने के लिए हर संभव कानूनी कदम उठाएगा | पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) के चेयरमैन और नेता विपक्ष शहबाज शरीफ ने मोदी सरकार के इस फैसले को संयुक्त राष्ट्र संघ के खिलाफ करार दिया है | शहबाज ने कहा, ‘कश्मीर से आर्टिकल 370 खत्म करना असंवैधानिक है | ये संयुक्त राष्ट्र के प्रति ‘एक तरह से राजद्रोह’ है, जिसे किसी कीमत पर स्वीकार नहीं किया जा सकता |’

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के चेयरमैन शहबाज शरीफ ने ये भी कहा कि भारत में मोदी सरकार ने आर्टिकल 370 को हटाने का जो फैसला लिया है, वो सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन भी है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here