भारत को राफेल मिला तो घबराया पाकिस्तान ट्विटर पर बरसा

0
53

बीते मंगलवार भारतीय वायुसेना को बेहद शक्तिशाली लड़ाकू विमान राफेल मिल गया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस के मेरिनियाक में स्थित दसॉ एविएशन के प्‍लांट में भारत के पहले राफेल को रिसीव किया। उन्‍होंने लड़ाकू विमान की विधिवत पूजा की और उसमें उड़ान भरी। लेकिन भारत की इस ऊंची उड़ान और बढ़ती ताकत को देखकर पाकिस्‍तान तिलमिलाहट में है। अपनी भड़ास निकालने के लिए माइक्रोब्‍लॉगिंग साइट ट्विटर का सहारा लिया।

पाकिस्‍तान की ओर से ट्विटर पर कई फर्जी अकाउंट और ट्विटर हैंडल के माध्‍यम से भारत विरोधी प्रोपेगैंडा चलाया गया। पाकिस्‍तानी फर्जी ट्विटर हैंडल की ओर से भारत विरोधी हैशटैग भी चलाए गए। इनमें करीब 70 हजार से अधिक ट्वीट और रिट्वीट किए गए। पाकिस्‍तान ने भारत के कुछ विमान हादसों की फोटो भी शेयर कीं। पाकिस्‍तान के फर्जी ट्वीटर्स ने ट्वीट में अपनी वायुसेना को बेहतर तक बता दिया।

50 फर्जी अकाउंट को किया बंद

गौरतलब है कि भारतीय वायुसेना ने अपने से बेहतर बताई गई पाकिस्तानी वायुसेना को फरवरी में बालाकोट एयरस्‍ट्राइक के दौरान ही धुल चटाई थी। इसके बाद से ही पाकिस्‍तान की ओर से ट्विटर पर प्रोपेगैंडा चलाया जाता रहा है। हाल ही में पाकिस्‍तान ने भारत के शीर्ष अफसरों के फर्जी अकाउंट भी बनाए थे। भारत की ओर से की गई शिकायत के बाद ट्विटर ने ऐसे करीब 50 फर्जी अकाउंट को बंद कर दिया था।

राफेल आक्रामकता नहीं, बल्कि आत्मरक्षा का हिस्सा

बता दें कि भारत के 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने पर पाकिस्तान तिलमिलाया हुआ है, क्‍योंकि उसके पास इसकी टक्‍कर का कोई लड़ाकू विमान नहीं है। उसके पास एफ-16 लड़ाकू विमान है, जो राफेल के आगे कहीं नहीं ठहरता। वहीँ फ्रांस में पहला राफेल लड़ाकू विमान रिसीव करने के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘भारत किसी अन्य देश को धमकाने के लिए हथियार नहीं खरीदता है। राफेल आक्रामकता नहीं, बल्कि आत्मरक्षा का हिस्सा है। रक्षामंत्री ने कहा कि 36 लड़ाकू विमानों में से 18 विमान फरवरी 2021 तक सौंप दिए जाएंगे, जबकि शेष विमान अप्रैल-मई 2022 तक सौंपे जाने की उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here