यमुना के इंतज़ार में जब रेत से नहाने लगे लोग!

0
61

गंगा दशहरा हिन्दू धर्म में मनाया जाने वाला महत्वपूर्ण पर्व है। यह ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है। गंगा दशहरा निर्जला एकादशी के एक दिन पहले मनाया जाता है। इस वर्ष गंगा दशहरा 12 जून दिन बुधवार को है। हिंदू धर्म में गंगा दशहरा को एक पर्व की तरह मनाया जाता है। मथुरा में भी इस त्यौहार को बहुत धूम धाम से मनाया जाता है लेकिन यमुना मे अभी तक जल नहीं छोड़ा गया | इससे स्थानीय लोगों में नाराजगी है | दूरदराज से आने वाले श्रद्धालु यमुना मैया की हालत देखकर हर बार आहत होते हैं | ऐसे में वृंदावन में यमुना किनारे सामाजिक कार्यकर्ताओं ने दूषित और सूखी यमुना नदी की ओर सरकार का ध्यान खींचने के लिए यहां एक प्रतीकात्मक रेत स्नान का आयोजन किया। कल दशहरा का पावन पर्व भी है लेकिन यमुना अभी तक सुखी है | गंगा दशहरा मनाने मथुरा में दूर दूर से लोग आते है लेकिन इस बार यहाँ पानी बेहद गन्दा है जिसके कारण यहाँ स्नान करना नामुमकिन ही है |

पानी के बिना यह नदी अब पूरी तरह से सूखने की कगार पर पहुंच चुकी है ..और इस वजह से सीवेज नहर बन चुकी | नदी की ओर सरकार का ध्यान आकर्षित करने के लिए इन कार्यकर्ताओं ने यमुना किनारे जाकर रेत से स्नान किया.. और कहां केंद्र से लेकर राज्य तक बीजेपी की सरकार है फिर भी यमुना शुद्धिकरण को सरकार अनदेखा कर रही है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here