Saturday, May 15, 2021

और मायावती व सोनिया का ये सपना टूट गया!

Must read

वाराणसी में सोमवार से शुरू होगा 750 बिस्तरों का कोविड अस्थायी अस्पताल:योगी

वाराणसी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सहयोग से देश एवं राज्य में कोरोना महामारी का मजबूती से मुकाबले...

सेंट्रल विस्टा के खिलाफ याचिका पर केंद्र ने दिया जवाब, कल सुनवाई करेगा हाई कोर्ट

दिल्ली. देश भर में जबकि Covid-19 की दूसरी लहर का प्रकोप चरम की तरफ है, ऐसे में राष्ट्रीय राजधानी में सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट (Central Vista...

मरीजों को लगा दिए 500 नकली रेमडेसिविर, अस्पताल संचालक के खिलाफ FIR

जबलपुर. नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन के मामले में पुलिस ने शहर के जाने-माने उद्योगपति और सिटी हॉस्पिटल के संचालक सरबजीत सिंह मोखा के खिलाफ FIR दर्ज...

शराब पीने से 5 लोगों की मौत, आबकारी निरीक्षक सहित चार निलम्बित

अम्बेडकरनगर. उत्तर प्रदेश के अम्बेडकर नगर (Ambedkar Nagar) में शराब (liquor) पीने से 5 लोगों की मौत के मामले में कार्रवाई शुरू हो गई है....

हरियाणा(Haryana) में विधानसभा चुनाव से पहले गठबंधन बनने से ज़्यादा टूटते दिखाई दे रहे हैं। बसपा(BSP) के पिछले 1 महीने में 2 पार्टियों से गठबंधन बन कर टूट चुके हैं। बहुजन समाजवादी पार्टी ने जजपा के बाद अब कांग्रेस से गठबंधन जुड़ने से पहले ही तोड़ दिया है। अब पार्टी अकेले हरियाणा की सभी 90 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी।

हरियाणा में बहुजन समाजवादी पार्टी और कांग्रेस(Congress) के गठबंठन की संभावनाएं बताई जा रही थी। बैठक में चीज़े तय होने के बाद अब दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन बनने से पहले ही टूट गया है। जानकारी के मुताबिक बसपा अब हरियाणा की सभी 90 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले बहुजन समाजवादी पार्टी ने जननायक जनता पार्टी(JJP) से भी एक महीने के अंदर ही गठबंधन तोड़ दिया था। सीटों के बंटवारे में भेदभाव का आरोप लगाते हुए बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने शुक्रवार जेजेपी के साथ गठबंधन तोड़ने का ऐलान किया था। हालांकि हरियाणा के बसपा नेताओं ने मायावती(Mayawati) को यह जानकारी दी थी कि जननायक जनता पार्टी के नेता सत्तारूढ़ भाजपा के संपर्क में थे, और इसलिए गठबंधन तोड़ने की सिफारिश की गई। गठबंधन के दौरान दुष्यंत चौटाला(Dushyant Chautala) ने ऐलान किया था कि मायावती के हाथी पर बैठकर जजपा चंडीगढ़ में सत्ता की चाबी से राज का दरबार खोलेगी।

गठबंधन टूटने के बाद मायावती ने घोषणा की है कि बीएसपी विधानसभा चुनाव में किसी भी दल के साथ गठबंधन नहीं करेगी और अपने बलबूते पर राज्य की सभी 90 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। हरियाणा में पिछले 5 महीने के दौरान बसपा का जननायक जनता पार्टी के साथ यह तीसरा गठबंधन था। इससे पहले बसपा राज्य में अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व वाली इनेलो और फिर पूर्व सांसद राजकुमार सैनी के नेतृत्व वाली लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के साथ गठबंधन कर चुकी है।

- Advertisement -

More articles

Latest article

आज़म खां की पत्नि ने दिया बड़ा बयान

रामपुर...... शहर विधायक एवम् आज़म खां की पत्नि डॉ तज़ीन फातिमा ने ईद के मौक़े पर कहा कि त्योहार ख़ुशी के लिए मनाये जाते...

बच्चों में कोविड-19 – क्या होते हैं लक्षण, क्या किया जाए

नई दिल्ली. एक तरफ जहां वयस्क और बुजुर्गों में कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) के लिए होड़ मची हुई है, वहीं फिलहाल एक वर्ग ऐसा भी...

तमिलनाडु और असम में नए मंत्रियों पर कितने हैं आपराधिक केस और कितनी है संपत्ति उनकी, जानें

असम में हुए ताजा चुनावों में 7 फीसद मंत्रियों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। वहीं 14 मंत्रियों की औसतन संपत्ति 4.78...

असम के नगांव में आकाशीय बिजली गिरने से 18 हाथियों की मौत

गुवाहाटी. असम (Assam) के नगांव जिले (Nagaon) में जंगल में आकाशीय बिजली गिरने से 18 हाथियों (Elephants) की मौत हो गई. वन विभाग के एक...

जब असम पहुंचे बंगाल के गवर्नर धनखड़ तो पैरों में गिर पड़ी महिलाएं, जानें वजह

गुवाहाटी-पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने रणपगली में कैंप का दौरा किया और लोगों से मुलाकात की। चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में...