Wednesday, March 3, 2021

जनता को शासकीय योजनाओं का लाभ पहुंचाने में मददगार बने विधायक – राज्यपाल

Must read

10 मार्च से 24 मार्च तक चलेगा दस्तक अभियान, जानिए क्या है ?

गोरखपुर। वर्ष 2025 तक टीबी मुक्त भारत के संकल्प को पूरा करने के लिए इसे दस्तक अभियान का भी हिस्सा बनाया गया है। पहली...

मुरादाबाद में मुख्य आरक्षी ने की आत्महत्या

मुरादाबाद,  उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद के मझोला क्षेत्र में ट्रैफिक पुलिस में तैनात जवान ने शनिवार को गोली मार कर आत्महत्या कर ली। पुलिस सूत्रों...

बेल्जियम की एक अप्रैल से पर्यटकों की यात्रा से ऐसे हट सकता है प्रतिबंध

ब्रुसेल्स,  बेल्जियम कोरोना वायरस के नये स्ट्रेन के प्रसार के खतरों के कारण इस वर्ष की शुरुआत में पर्यटक और देश के बाहर की...

 विधान परिषद में हंगामा, सभापति ने सपा के साथ 7 एमएलसी को जारी किया नोटिस

विधान परिषद में हंगामे का मामला : सभापति ने सपा के साथ 7 एमएलसी को नोटिस जारी किया विधानपरिषद सदस्य आनंद भदौरिया ,राजेश यादव, सुनील...

रायपुर , छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुईया उइके ने विधायकों से राज्य सरकार की विकासपरक जनहितकारी नीतियों,योजनाओं,कार्यक्रमों,अभियानों में सक्रिय भागादारी निभाने और अपने अपने निर्वाचन क्षेत्र की जनता को शासकीय योजनाओं का लाभ पहुंचाने में मददगार बनने की अपील की है।

सुश्री उइके ने आज छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र के शुभारंभ के मौके पर अपने अभिभाषण में कहा कि बीता वर्ष अनेक चुनौतियों से भरा था।रोज खाने कमाने वाले परिवारों को भोजन और आजीविका,कुपोषण से लड़ रहे परिवारों को निरंतर पोषण आहार प्रदाय,प्रवासी मजदूरों की सुरक्षित वापसी और उऩका पुनर्वास,कोरोना संक्रमण से बचाव और आर्थिक गतिविधियों की स्वाभाविक गति को बनाए रखने की चुनौतियों के बीच सरकार इन सभी मोर्चे पर खरी उतरी और प्रदेश कोरोना काल में भी अनेक क्षेत्रों में नई उपलब्धियां हासिल कर सका।

ये भी पढ़े- कार्ति चिदम्बरम को इन शर्तों पर विदेश जाने की सुप्रीम कोर्ट ने दी अनुमति

उन्होने कोरोना काल में 67 लाख से अधिक राशनकार्ड धारियों को खाद्यान्न उपलब्ध करवाने, गावों में खाद्य सुरक्षा के लिए दो-दो क्विंटल चावल रखे जाने तथा मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान में 51 हजार से अधिक आंगनबाड़ी केन्द्रों के 24 लाख से अधिक हितग्राहियों को रेडी टू ईट पोषण साम्रगी दिए जाने का उल्लेख करते हुए उनकी सरकार ने एक बार फिर किसानों से किया गया वादा निभाया है।इस वर्ष सर्वाधिक 21 लाख किसान पंजीकृत हुए थे जिनमें से 20 लाख 53 हजार से अधिक किसानों ने अपना धान समर्थन मूल्य पर बेचा।इस बार रिकार्ड मात्रा 92 लाख मीट्रिक टन से अधिक धान की खरीद की गई।

इस वर्ष रिकार्ड 4755 करोड़ रूपए के ब्याज मुक्त ऋण वितरण का उल्लेख करते हुए उन्होने कहा कि राज्य में 16 लाख किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड दिए जा चुके है।प्राथमिक कृषि साख समितियों का पुनर्गठन कर 725 नई समितियां पंजीकृत की गई है,जिससे राज्य में समितियों की संख्या बढ़कर 2058 हो गई है।उन्होने कहा कि गन्ना आधारित इथेनाल संयंत्र लगाया जा रहा है,वहीं धान आधारित इथेनाल संयंत्र लगाने की उऩकी सरकार ने पहल की है।उन्होने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में होने वाली अलग अलग फसलों का वैल्यू एडीशन हो,इसके लिए प्रत्येक विकास खण्ड में फूड पार्क एवं वनोंपज प्रसंस्करण केन्द्रों की स्थापना की जा रही है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

भारत नेट परियोजना के पूरा होने में कई कारणों से हुई देरी- भूपेश

रायपुर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज विधानसभा में स्वीकार किया कि भारत नेट परियोजना फेस टू के क्रियान्वयन में देरी हुई है,इसके...

कोल्हापुर फैक्टरी में भीषण आग लगी

कोल्हापुर,  महाराष्ट्र में कोल्हापुर के हाथकानानगाले शहरी तहसील की लक्ष्मी औद्योगिक एस्टेट में एक फैक्टरी में मंगलवार को भीषण आग लग जाने से कम...

सरकार के जवाब से असंतुष्ट सपा सदस्यों ने किया परिषद से बहिर्गमन

लखनऊ,  उत्तर प्रदेश विधान परिषद में कृषि मण्डी संशोधन अधिनियम संशोधन कर मण्डियों की उपयोगिता कम करने के संबंध में दी सूचना पर सरकार...

फर्रुखाबाद जिला पंचायत सदस्यों की आरक्षण सूची जारी

फर्रुखाबाद जिला प्रशासन द्वारा जिला पंचायत सदस्यों की आरक्षण सूची जारी कर दी गयी। राजेपुर प्रथम : अनारक्षित राजेपुर द्वितीय : पिछड़ी जाति महिला राजेपुर तृतीय :...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने बजट को लेकर कही ये बात

भोपाल, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश का आज विधानसभा में प्रस्तुत वार्षिक बजट प्रदेश को प्रगति पथ पर ले...