जेल में लालू यादव की स्थिति गम्भीर, किडनी जवाब देने की कगार पर

0
109

आरजेडी(RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की तबियत लगातार बिगड़ती जा रही है। उनकी किडनी धीरे धीरे कमज़ोर दर कमज़ोर हो रही है। रिम्स अस्पताल में भर्ती लालू प्रसाद यादव की किडनी केवल 37% ही काम कर रही है। इसके साथ ही उनकी स्थिति काबू से बाहर हो रही है। लालू प्रसाद यादव(Lalu Prasad Yadav) का इलाज कर रहे डॉक्टर डी के झा ने बताया है कि लालू प्रसाद की स्थिति सामान्य नहीं है। उनकी किडनी गंभीर अवस्था में है।

शनिवार को लालू प्रसाद के डॉक्टर डी के झा ने बताया उनकी हालत अभी अस्थिर है। पिछले हफ्ते उन्हें पीठ पर एक फुंसी हुई जो फफोले(Boil-Abscess) में तब्दील हो गयी थी। उसमे से पस निकालने के बाद उनकी किडनी ने काम करना कम कर दिया है। उन्हें अभी एंटी-बायोटिक्स दी जा रही हैं। उन्होंने बताया कि ऐसे केस में एंटीबायोटिक्स के सेवन से कई बार ऐसा होता है। एंटी-बायोटिक्स का कोर्स पूरा होते ही किडनी में बेहतरी की उम्मीद है। हालांकि बीते दिन हुई खून की जांच में आशंकित इन्फेक्शन की पुष्टि हुई है। इस इन्फेक्शन से उनकी तबियत में बेहतरी की उम्मीद काम हो गई है। इससे पहले भी उनके शरीर पर पर फफोलों को हटाने के लिए 7 बार ऑपरेशन किया जा चुका है। इसके साथ ही उनके रक्त चाप (BP) में उतार-चढ़ाव भी चिंता का विषय है। डॉक्टर झा के मुताबिक, लालू यादव के रक्तचाप को बारीकी से मॉनिटर किया जा रहा है। उनके रक्त चाप को दिन में तीन बार मापने के निर्देश दिए गए हैं। उनकी हालत की गंभीरता को देखते हुए शनिवार दोपहर उनके पुत्र तेजस्वी यादव(Tejasvi Yadav) और कटोरिया की विधायक स्वीटी सीमा हेंब्रम उनसे मिलने पहुंचे । उनसे पहले अस्पताल में अभिनेता और राजनेता शत्रुघ्न सिन्हा(Shatrughan Sinha), जीतनराम मांझी(Jeetan Ram Manjhi) सहित कई हस्तियां लालू यादव से मिलने जा चुकी हैं।

एक साल से हैं अस्पताल में भर्ती

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले तक लालू प्रसाद यादव की किडनी 50% से अधिक काम कर रही थी। बीते हफ्ते उनकी बिगड़ती तबियत के चलते उनकी किडनी केवल 50% काम कर पा रही थी। शनिवार को आई रिपोर्ट के मुताबिक उनकी किडनी की फंक्शनिंग 50% से घटकर 37% रह गयी। बता दें शुक्रवार को उन्हें रिम्स अस्पताल में भर्ती हुए एक साल हो गया। बीते कुछ दिनों से उन्हें चलने फिरने में भी दिक्कत हो रही है। डॉक्टरों के अनुसार डायबिटीज मरीज को 30 मिनट में कम से कम 3 किलोमीटर चलना चाहिए लेकिन घुटने में गठिया का रोग बढ़ने के बाद से लालू एक दिन में 100 से 200 मीटर से ज़्यादा चल नहीं पा रहे हैं।

अशोक कुमार की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here