Friday, March 5, 2021

जानिए बिहार विधानसभा में क्यों मचा हंगामा

Must read

लोडिंग वाहन से केमिकल से दूध बनाने वाली सामग्री जब्त, चालक गिरफ्तार

भिंड, मध्यप्रदेश के भिंड जिले के देहात थाना पुलिस ने एक लोडिंग वाहन से नकली दूध बनाने वाली सामग्री जब्त कर चालक को गिरफ्तार...

रविदास जयंती पर राष्ट्रपति कोविंद ने दी बधाई एवं शुभकामनाएं

नयी दिल्ली,  राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरु रविदास जयंती के पावन अवसर पर देशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी है। कोविंद ने शनिवार को ट्वीट...

बिहार में इतने आईएएस अधिकारियों की कमी, केंद्र सरकार से किया अनुरोध

पटना  बिहार सरकार ने सोमवार को विधानसभा में स्वीकार किया कि राज्य में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के 54 अधिकारियों की कमी है और...

पिता व भाई के साथ शारीरिक संबंध बनाने से मना करने पर दिया तीन तलाक

जनपद मुज़फ्फरनगर में एक ओर 3 तलाक का मामला सामने आया है जिसमे एक कलियुगी पति ने अपनी अपनी को इस लिए ना कि...

बिहार, नेता प्रतिपक्ष ने गोपालगंज जहरीली शराब कांड के मामले को भी उठाया और कहा कि मुख्यमंत्री अभी सदन में ही मौजूद हैं और वह आश्वस्त करें कि इस मामले में दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा और ऐसी घटना आगे नहीं होगी ।

उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत और महंगाई को लेकर विपक्ष के सदस्यों की मांग जायज है। इस पर सदन में तुरंत चर्चा होनी चाहिए। पहले भी कई बार प्रश्न काल को स्थगित कर जनहित के मुद्दों पर सदन में चर्चा हुई है इसलिए कार्यस्थगन प्रस्ताव को मंजूर किया जाए ।
सभाध्यक्ष ने कहा कि इन विषयों के लिए समय निर्धारित है।

अभी प्रश्नकाल का समय है इसलिए प्रश्नकाल को होने दिया जाए । उन्होंने कहा कि सदन सार्थक विमर्श के लिए है । इससे लोकतंत्र मजबूत होगा, इसलिए वह सभी सदस्यों से आग्रह करते हैं कि उचित समय पर ही उचित मुद्दों को उठाएं ।

ये भी पढ़े- यूपी बजट 2021 पेश कर विधानसभा पहुंचे वित्तमंत्री सुरेश खन्ना

शोरगुल के बीच ही प्रश्नकाल जारी रहा और इस दौरान राजद के ललित यादव के प्रश्न के उत्तर में वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि प्रक्रियात्मक वजहों से संक्षिप्त आकस्मिक व्यय विपत्र (एसी बिल) और विस्तृत आकस्मिक व्यय विपत्र (डीसी बिल) देने में देर होती है लेकिन 31 मार्च तक सभी एसी-डीसी बिल को जमा करने का निर्देश विभाग को दिया गया है ।

श्री यादव ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2018-19 का भी अभी तक एसी-डीसी बिल जमा नहीं हुआ है क्या सरकार इसके लिए दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई करेगी । इस पर वित्त मंत्री ने कहा कि 31 मार्च तक सभी एसी डीसी बिल जमा कर दिए जाएंगे ।

चीनी मिलों पर किसानों के बकाए के भुगतान से संबंधित प्रश्न के उत्तर में गन्ना उद्योग मंत्री प्रमोद कुमार ने कहा कि एक हफ्ते में किसानों को भुगतान करने का आदेश चीनी मिल मालिकों को दिया गया है। किसानों के बकाया की भुगतान नही होने पर नीलामी की प्रक्रिया की जाएगी। मढ़ौरा चीनी मिल बंद होने और किसानों की बकाया राशि के मामले पर मंत्री श्री कुमार ने कहा कि न्यायालय में केस अभी लंबित है। उसके फैसले का इंतजार है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

पोषक लाल चावल की पहली खेप हूई रवाना

असम के प्रख्यात और पोषक लाल चावल की पहली खेप गुरूवार को अमेरिका के लिए रवाना कर दी गयी। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने...

उत्तर प्रदेश में कोरोना का हाल

इस बीच चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,18,545...

झगड़े में एक व्यक्ति की मौत जानिए क्या है वजह

 महाराष्ट्र में सांगली जिले की कवठे-महंकल तहसील के बोरगांव में उप सरपंच के चुनाव में गुरुवार को अपराह्न दो राजनीतिक गुटों के बीच हुए...

एफसी गोवा ने रिकॉर्ड छठी बार आईएसएल के प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई किया

अपने प्रदर्शन को लेकर हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के इतिहास में सबसे अधिक निरंतरता रखने वाली एफसी गोवा ने रिकॉर्ड छठी बार आईएसएल...

बैडमिंटन टूर्नामेंट के क्वार्टरफाइनल में इन खिलाड़ियो ने कर लिया प्रवेश

विश्व चैंपियन और दूसरी सीड भारत की पीवी सिंधू, चौथी वरीयता प्राप्त किदाम्बी श्रीकांत, विश्व चैंपियन और पांचवीं सीड बी साई प्रणीत और अजय...