इससे पहले जान ले ले सर्वाइकल पेन, ज़रूर पढ़ें रामबाण उपाय

0
369

सर्वाइकल पेन की समस्या से आजकल युवाओं से लेकर वृद्धों तक लगभग सभी परेशान है। यह समस्या हड्डियों से जुड़ी है, जिसके होने पर कंधों, गर्दन आदि में गंभीर दर्द होता है। आज के दौर में अनियमित दिनचर्या के कारण लगभग हर तीसरे व्यक्ति को सर्वाइकल की परेशानी सहनी पडती हैं। घंटों बैठे रहना, गलत मुद्रा, झुक कर बैठना और कई अन्य गलत आदतों की वजह से इस परेशानी का सामना बड़ी तादाद में लोगों को करना पड़ता है पर हमें अपनी आदतों या इससे बचने के उपाय मालूम नहीं होते इसलिए हम सभी को सर्वाइकल के दर्द की वजह, लक्षण और इसके आसान घरेलू उपचार की जानकारी होनी बहुत जरूरी है ।

सर्वाइकल की जड़

गलत पोजीशन में सोना

ज्यादातर लोगों को भारी वजन को सिर पर उठाने से सर्वाइकल पेन होता है।

गर्दन को बहुत देर तक झुकाये रखने से भी सर्वाइकल पेन हो सकता है।

बहुत देर तक एक ही पोजीशन में बैठने से सर्वाइकल पेन शुरू हो जाता है।

ऊंचे और बड़े तकिये का प्रयोग करने से सर्वाइकल पेन होता है।

भारी वजन के हेलमेट डालकर बाइक राइडिंग करने से भी सर्वाइकल हो सकता है।

गलत उठने, बैठने और सोने के तरीकों के कारण भी सर्वाइकल हो सकता है।

सर्वाइकल पेन के लक्षण

सर्वाइकल की समस्या को गंभीर होने से पहले समझ के काबू में किया जा सकता है। इसके लक्षण हैं

सिर का दर्द

गर्दन को हिलाने पर गर्दन में से हड्डियों के टिडक्ने के जैसी आवाज़ का आना।

हाथ, बाजू और उंगलियों में कमजोरी महसूस होना या उनका सुन्न हो जाना

व्यक्ति को हाथ और पैरों में कमजोरी के कारण चलने में समस्या होना और अपना संतुलन खो देना

गर्दन और कंधों पर अकड़न होना

सर्वाइकल के इलाज हेतु घरेलु उपाय

सर्वाइकल का इलाज कुछ छोटे पर कारगर तरीको को अपनाने से किया जा सकता है। ये हैं :

सही ढंग से सोएं – अक्सर मुलायम ऊंचे गद्दे और तकिए पर हम सोना पसंद करते हैं । पर यह सर्वाइकल पेन का कारण बन सकता है इसलिए सख्त गद्दे का ही हमेशा प्रयोग करें । ऊंची तकिया से दुश्मनी कर लें तो बेहतर है । अपना सिर जमीन के तल पर रखकर सोने की आदत डाल लें। या ज्यादा से ज्यादा पीठ को 15 डिग्री तक मोड़ने वाले तकिये का प्रयोग करें। पेट के बल ना सोएँ। ये गर्दन को फैलाता है। पीठ के बल या करवट लेकर सोएँ। इससे आपको दर्द से राहत पाने में मदद करेगा और जिन्हें नहीं है वह बचे रहेंगे।
गर्म और ठंडा सेख – दर्द कम करने के लिए गर्दन पर ठंडा या गर्म पदार्थ लेकर सिंकाई करें। किसी एक से ही करते रहने के मुकाबले बारी-बारी से गर्म और ठन्डे का प्रयोग करना फायदेमंद होगा ।
मसाज – मसाज करवाना तो वैसे भी कई लोगों को पसंद होता है और यह तुरन्त रिलीफ पहुंचाता है पर सिर्फ बॉडी पेन में ही नहीं बल्कि सर्वाइकल पेन के दर्द से राहत के लिए आप मसाज का सहारा भी ले सकते है।
खूब पानी पियें – हम यूँही नहीं कहते कि जल ही जीवन है । हमारे शरीर का अधिकतम वजन पानी की वजह से होता है क्योंकि शरीर में होने वाले अधिकांश कामो के लिए पानी की आवश्यकता पड़ती है। साथ ही हमारे रीढ़ की हड्डी के जोड़ो के बीच में डिस्क और जॉइंट होते है उनमे अधिकतर हिस्सा पानी का बना होता है और ऐसे में शरीर में पानी की कमी होने से उनकी कार्यक्षमता में कमी हो जाती है इसलिए जितना हो सके ज्यादा से ज्यादा पानी पियें |
स्ट्रेस से बचें – आपको ये सुनकर थोडा अजीब लगेगा कि सर्वाइकल पेन की वजह स्ट्रेस यानी तनाव भी हो सकता है और यह कम से कम 60 फीसदी मामलों में देखा गया है इसलिए अगर आपको पेन है तो आपको इसपर और भी ध्यान देना चाहिए और तनाव को कम करने के लिए उपयोगी कदम उठाने चाहिए।
राइट डे शेड्यूल अपनाएं – एक अच्छी दिनचर्या आपके लिए चीजें आसान कर सकती हैं, इसलिए अपनी दिनचर्या में शारीरिक व्यायाम और सही भोजन को शामिल करें और अगर आप मेहनत वाला काम करते हों तो बिना लापरवाही किए अपने शरीर को भरपुर आराम दें।
स्ट्रेच एक्सरसाइज की आदत डालें – अपने शरीर को कुछ छोटे छोटे एक्सरसाइज के साथ आप अपने दर्द से प्रभावित हिस्सों को आराम दे सकते है इनमे कुछ स्ट्रेच एक्सरसाइज भी शामिल है। स्ट्रेच एक्सरसाइज करने से शरीर एवं गर्दन की मास पेशियां खुल जाती है और सर्वाइकल पेन से राहत मिलने लगती है।

कुछ ज़रूरी ध्यान देने योग्य बातें

इसके अलावा सर्वाइकल से हमेशा के लिए छुटकारा पाने के लिए इन कुछ ज़रूरी आदतों का ख्याल रखें

ज्यादा वजन वाला सामान उठाने की ज़्यादा कोशिश न करें
चक्रासन और मत्स्यासन के अलावा गर्दन को गोल गोल घुमाने का अभ्यास करे

प्रतिदिन सूर्योदय से पहले उठकर कम से कम 3 किलोमीटर तेज़ रफ्तार से पैदल चलें

अपने ऑफिस में ज्यादा देर तक एक ही पोजीशन में न बैठकर हर एक घंटे के बाद थोड़ी थोड़ी देर के लिए ब्रेक लेकर थोडा वाक करने की आदत डालें।

अगर आप घरेलू महिला है तो ज्यादा देर न सोये और घरेलू कार्यों के बीच थोडा थोडा ब्रेक ले कर आराम करें।

बैठ कर फर्श पर पोछा लगाने की आदत से काफी आराम मिलेगा।

इन कुछ छोटी चीज़ो का ध्यान रखने से आपका जीवन सर्वाइकल की समस्या से बचा रहेगा और इससे आपकी हड्डियों की सेहत भी दुरुस्त रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here