Sunday, January 17, 2021

पीएम मोदी की रूस यात्रा के पहले दिन ही पाकिस्तान को मिली ज़ोरदार चोट

Must read

पूरा उत्तर भारत घने कोहरे की चादर में लिपटा ,शीतलहर का प्रकोप जारी

चंडीगढ, पश्चिमोत्तर क्षेत्र में बर्फीली हवाओं और घने काेहरे का कहर जारी रहने से आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित रहा तथा सड़क ,रेल और...

महाराष्ट्र में आज हो रहे हैं पंचायत चुनाव, जानें क्या है व्यवस्था

मुंबई : कड़ी सुरक्षा तथा सख्त कोरोना प्रोटोकॉल के बीच महाराष्ट्र के 34 जिलों में 14,234 ग्राम पंचायतों के लिए शुक्रवार को मतदान हो...

उज्जैन में कोरोना कहर, सामने आये इतने मामले

उज्जैन,  मध्यप्रदेश के उज्जैन जिले में कोरोना वायरस (कोविड़-19) के 10 नए मामले सामने आने के बाद कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 5071 हो...

बलिया में साइकिल से जा रहे वृद्ध के साथ हुआ कुछ ऐसा, जानकर रह जाएगें दंग

बलिया, उत्तर प्रदेश में बलिया जिले के उभांव क्षेत्र में घर से गैस सिलेंडर लेने निकले साइकिल सवार व्यक्ति की सड़क दुर्घटना में मृत्यु...

पीएम मोदी (PM Modi) रूस की यात्रा पर गए हुए हैं | रूस (Russia) में बोलते हुए पीएम मोदी ने पाकिस्तान (Pakistan) को एक बार फिर से साफ संदेश देने की कोशिश की है | प्रधानमंत्री ने कहा है कि भारत-रूस मानते हैं कि किसी देश के आंतरिक मसले में किसी तीसरे देश को दखल नहीं देना चाहिए | पीएम मोदी अपनी दो दिन की विदेश यात्रा पर रूस में हैं, जहां उन्होंने राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के साथ द्विपक्षीय बातचीत की | इसके बाद दोनों से साझा प्रेस स्टेटमेंट जारी किया जिसमें बताया गया कि दोनों नेताओं के बीच कई अहम समझौतों पर हस्ताक्षर हुए हैं | साथ ही दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय मसलों पर भी चर्चा की |

जब पहली रूसी समिट में गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर गए थे पीएम मोदी

पहली रूसी समिट में गुजरात के मुख्यमंत्री (chief Minister) के तौर पर गए थे पीएम मोदी
प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान अफगानिस्तान (Afghanistan) पर बात की और कहा कि भारत हमेशा स्वतंत्र अफगानिस्तान की आशा करता है | आगे उन्होंने यह भी कहा कि भारत, स्वतंत्र, शांत और लोकतांत्रिक अफगानिस्तान देखना चाहता है|

किसी देश के आंतरिक मसले में किसी तीसरे देश को दखल नहीं देना चाहिए: पीएम मोदी

इसके अलावा पीएम मोदी ने कहा कि भारत-रूस दोनों ही मानते हैं कि किसी देश के आंतरिक मसले में किसी तीसरे देश को दखल नहीं देना चाहिए | जाहिर है उनका इशारा कश्मीर की तरफ था | बुधवार को दोनों नेताओं की साझा प्रेसवार्ता (Joint Press Conference) हुई | जिसमें प्रधानमंत्री ने यह भी कहा आज भारत और रूस के बीच 20वां समिट हो रहा है | जब पहला समिट हुआ था तो मैं यहां गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ आया था | तब भी व्लादिमीर ही यहां के राष्ट्रपति थे | उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश है कि दोनों देशों के बीच संबंध नई ऊंचाईयों पर पहुंचें |

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

Birthday Special : 76 के हुए जावेद अख्तर, ताश खेलने वाली पहली पत्नी से की शादी

17 जनवरी को जावेद अख्तर 76 वर्ष के हो गएl स्क्रिप्ट राइटर और गीतकार जावेद अख्तर से जुड़े कुछ दिलचस्प तथ्य हम आपके लिए...

रूस की वैक्सीन ‘Sputnik V’ को ब्राजील की ना

ब्राजीलिया : ब्राजील की स्वास्थ्य नियामक एजेंसी (अनविसा) ने रूस के कोविड-19 वैक्सीन स्पूतनिक वी के आपात इस्तेमाल के लिए दवा कंपनी यूनिवो क्यूमिका...

जर्मनी के फ्रैंकफर्ट एयरपोर्ट पर रात में चले पुलिस अभियान में नहीं मिली कोई संदिग्ध वस्तु

बर्लिन : जर्मनी में फ्रैंकफर्ट हवाई अड्डा पुलिस ने संदिग्ध सामान के निरीक्षण के बाद कोई खतरा नहीं पाए जाने पर अभियान के पूरा...

राहुल गांधी ने विदेश मंत्री S Jaishankar से पूछा चीन की क्या है रणनीति

देश में शनिवार को विदेश मामलों को लेकर संसदीय कंसलटेटिव कमिटी की एक अहम बैठक हुई जिसमें कांग्रेस नेता राहुल गाँधी समेत विभिन्न पार्टियों...

देश में पहले दिन 1.91 लाख लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन, जानें कैसी रही शुरूआत

अभियान की शुरुआत के साथ लाखों जिंदगियां और रोजगार लीलने वाली इस महामारी के खात्मे की उम्मीद जगी है। भारत ने कोविशील्ड और कोवैक्सीन टीके...