Tuesday, March 2, 2021

पॉल दीनाकरण की जीसस कॉल्स पर आयकर विभाग के छापे

Must read

करोड़ो की चांदी चोरी का खुलासा, चार आरोपी गिरफ्तार

 राजस्थान की राजधानी जयपुर के वैशालीनगर में चिकित्सक दम्पत्ति के बैसमैन्ट में सुरंग खोदकर करोडों रूपये की चांदी की चोरी करने वाली वारदात का...

प्रियंका दो दिवसीय यात्रा पर असम पहुंचीं ,कामाख्या मंदिर में की पूजा

गुवाहाटी,  कांग्रेस महासचिव एवं स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी वाड्रा असम के दो दिवसीय दौरे पर सोमवार सुबह यहां पहुंचीं। श्रीमती वाड्रा ने गुवाहाटी में...

आरक्षण को चुनौती देने वाली याचिका को जबलपुर हाईकोर्ट ने किया खारिज

भोपाल, जबलपुर हाईकोर्ट ने भोपाल नगर निगम के 85 वार्डो के आरक्षण को चुनौती देने वाली और महापौर के निर्वाचन पर रोक लगाने वाली...

सिद्धार्थनगर, राज्य शिक्षा मंत्री ने किया प्राथमिक विद्यालय औचक निरीक्षण

ब्रेकिंग सिद्धार्थनगर प्रदेश के बेसिक शिक्षा राज्य शिक्षा मंत्री ने किया प्राथमिक विद्यालय पोखरभिटवा का किया औचक निरीक्षण। प्रदेश में आज करीब 1साल बाद खुले है प्राथमिक...

चेन्नई, आयकर विभाग के अधिकारियों ने बुधवार को तमिलनाडु में जीसस कॉल्स नाम से प्रसिद्ध संस्था और पॉल दीनाकरण के निवास और व्यवसायिक कार्यालय पर कर चोरी के आरोपों को लेकर छापेमारी की।


आयकर विभाग के अधिकारियों ने राज्य में मिशनरी संस्था से जुड़े 28 अलग-अलग स्थानों पर सुबह छापेमारी शुरू की। विभाग ने चेन्नई, कोयम्बटूर, त्रिची और टेक्सटाइल में करुण्य विश्वविद्यालय सहित संस्था से जुड़े अस्पताल और संबंधित अन्य संस्थानों पर भी छापेमारे की।


आयकर विभाग ने दरअसल दीनाकरण और जीसस कॉल्स के खिलाफ टैक्स की चोरी और विदेशी धन की अनियमितता की कई शिकायतों को लेकर यह छापेमारी की है। पॉल दीनाकरण डीजीएस दीनाकरण का बेटा है जिसकी तमिलनाडु में ईसाई समुदाय के बीच गहरी और मजबूत पकड़ है तथा वह राज्य में कई संस्थाओं को भी चलाता है। जीसस कॉल्स संस्था की शुरुआत वर्ष 1962 में डीजीएस दीनाकरण ने की थी।

ये भी पढ़ें –राजपथ की रखवाली के लिए आईटीबीपी के विशेष डॉग स्क्वॉड की तैनाती


जीसस कॉल्स की वेबसाइट के अनुसार उनकी संस्था तमिलनाडु में ईसाई धर्म को लेकर उपदेश देती है।
आयकर विभाग से जुड़े सूत्रों ने कहा है कि छापेमारी का सबसे प्राथमिक कारण इस बात की पुष्टि करना है कि क्या कर की कोई हेरा-फेरा या चोरी की गई है। उन्होंने कहा,“ क्योंकि जीसस कॉल्स एक बड़ी संस्था है, इसलिए इस संबंध में छापेमारी के बाद ही कोई अधिक जानकारी दे सकेंगे।”


जीसस कॉल्स इसके अलावा कई योजनाओं के जरिये चंदा भी लेता है जो जांच के दायरे में हो सकता है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

आर्मी भर्ती परीक्षा CEE के पेपर लीक, इतने आरोपी गिरफ्तार

पुणे. मिलिट्री इंटेलिजेंस और पुणे पुलिस  ने ज्वाइंट ऑपरेशन में एक ऐसे गिरोह का भांडाफोड़ किया है, जो आर्मी में भर्ती होने वाली परीक्षा...

वैक्‍सीन से कोरोना के साथ सही होंगी ये बीमारियां

दिल्ली, कोरोना वायरस वैक्‍सीन लेने वाले लोगों में कुछ अन्‍य बीमारियों से जुड़ी परेशानी दूर होने की बात सामने आई है। ब्रिटेन के एक...

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के खिलाफ 4 मुकदमे राज्य सरकार ने….

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के खिलाफ कौशाम्बी में चल रहे चार मुकदमे (राज्य सरकार ने वापस लिए हैं. इसमें कई...

मालदा में ममता पर योगी का हमला, कह दी यह बड़ी बात

नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को मालदा में ममता बनर्जी सरकार पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल...

नकली शराब फैक्ट्री का भंडाफोड़, 45 लाख रुपए की कीमत की शराब के साथ इतने गिरफ्तार

आगामी पंचायत चुनाव से पहले शामली पुलिस को एक महत्वपूर्ण सफलता हाथ लगी है। शामली पुलिस ने पंचायत चुनाव से पहले नकली शराब फैक्ट्री...