पीलीभीत में ‘हाई टेंशन’ अंधविश्वास ने ले ली किसान की जान

0
90
  • 5 घंटे तक जमीन में गड़े रहे युवक की मौत,

  • हाई टेंशन की लाइन से लगा था युवक को करंट,

  • सूचना के बाद भी 5 घंटे तक नही पहुची पुलिस और बिजली विभाग के आलाधिकारी,

  • समय रहते भी नही मिल सकी स्वास्थ्य सेवाएं,

  • बिजली विभाग के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज

पीलीभीत में अंधविश्वास (Superstition) के चलते एक किसान (Farmer) की जान चली गई | किसान को हाई टेंशन (High tension) की लाइन से करंट लग गया | जिसके बाद परिजनों ने डॉक्टर को नहीं दिखाया और उसे जमीन में गड्ढा खोदकर रेते के अंदर जमीन में गाड़ दिया। फिर 5 घंटे तक देशी इलाज करते रहे।

थाना गजरौला क्षेत्र के गाँव पिंडरा के रहने वाले 58 वर्षीय जोगा सिंह के घर के ऊपर से हइटेंशन की लाइन गुजर रही है। जोगा सिंह अपने घर के आंगन में खड़े थे | इस बीच लाइन का तार टूटकर उनके ऊपर गिर गया | जिससे वो बुरी तरह झुलस गए | जिसके बाद परिजन जोगा सिंह को अस्पताल नही ले गए | बल्कि घर पर ही उन्हें गड्ढा खोदकर रेते के नीचे दबा दिया | इतना ही नहीं उन्होंने जोगा सिंह का ईलाज भी किया | जिसके 5 घंटे के लंबे अंतराल के बाद उनकी मौत हो गई।

5 घण्टे गुजर जाने के बाद भी घटना स्थल पर कोई नही पहुंचा

बताया जा रहा है कि घटना के बाद पुलिस और बिजली विभाग को सूचना दी गई थी | लेकिन 5 घण्टे गुजर जाने के बाद भी घटना स्थल पर कोई नही पहुंचा | परिजनों ने अंधविश्वास के जोगा सिंह को ज़मीन में ही गाड़ दिया | फिर नतीजा ये रहा कि उनकी मौत हो गई।

तो बच जाती जोगा सिंह की जान !

इस सूचना के बाद अगर समय रहते पुलिस या बिजली विभाग के आलाधिकारी मौके पर पहुंच जाते, तो जोगा सिंह की जान बचाई जा सकती थी। पुलिस ने फिलहाल बिजली विभाग के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है | साथ ही अब पुलिस मामले की जांच कर रही है।

शिकायत के बावजूद अधिकारियों ने नहीं उठाया कोई कदम !

बिजली विभाग पर आरोप है कि उनका मकान 40 साल पुराना है। गांव वालों के इनकार करने के बाबजूद भी हइटेंशन लाइन मकान के ऊपर से निकल दी गई थी |इस बात की आलाधिकारियों से शिकायत भी की गई लेकिन किसी ने भी कोई ठोस कदम नहीं उठाए |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here