Friday, February 26, 2021

सरकार का जोर किसान आंदोलन को बदनाम करने पर: कांग्रेस

Must read

भोपाल में इस तारीख को लगेगा रोजगार मेला, इतने युवा उठा पाएंगे लाभ

भोपाल, मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में युवाओं के लिए रोजगार मेले का आयोजन 23 फरवरी को किया गया है। जिला रोजगार अधिकारी ने बताया कि...

बॉलीवुड निर्देशक अनीस बज्मी का भूल भुलैया 2 फिल्म के लिए दिया बयान

बॉलीवुड निर्देशक अनीस बज्मी का कहना है कि फिल्म ‘भूल भुलैया 2’ में देरी के लिये तब्बू जिम्मेदार नहीं है और वह जल्द ही...

आधार कार्ड के फिंगरप्रिंट द्वारा बैंक से पैसे निकालने वाले गिरोह को लखनऊ पुलिस ने किया गिरफ्तार

राजधानी लखनऊ के थाना कृष्णा नगर में वादी योगेश दीक्षित ने ऑनलाइन फ्रॉड की एफ आई आर दर्ज कराई थी वही कृष्णा नगर थाना...

सारण में वाहन से युवक की भयंकर टक्कर और फिर हुयी मौत

छपरा,  बिहार में सारण जिले के भेल्दी थाना क्षेत्र में वाहन की चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गयी। पुलिस सूत्रों ने...

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने किसानों के आंदोलन को लेकर केंद्र के रवैये पर निशाना साधते हुए कटाक्ष किया कि 56 इंच के सीने की बात करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गरीबों के आंसू पोछने वाला दिल नहीं रखते। उन्होंने पूछा कि दिल्ली में मंगलवार को किसानों के प्रदर्शन के दौरान हुई ङ्क्षहसा के संदर्भ में केंद्र सरकार का खुफिया विभाग क्या कर रहा था। प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि क्या प्रदर्शन में आतंकवादी शामिल थे, इसे सार्वजनिक किया जाए।

सिद्धरमैया ने कहा, च्च्ज्यह सरकार की विफलता है, किसान दो महीने से भी ज्यादा समय से प्रदर्शन कर रहे थे, वे अब तक 11 दौर की बातचीत कर चुके हैं,ज् क्या मुद्दे के समाधान के लिये 11 दौर की जरूरत होती है?’’ उन्होंने कहा, च्च्किसानों की सिर्फ यह मांग है- कुछ कानून किसान विरोधी हैं, वे कृषि क्षेत्र के खिलाफ काले कानून हैं – और इन्हें वापस लिया जाना चाहिए।’’ यहां संवाददाताओं से बात करते हुए उन्होंने कहा कि कड़ाके की ठंड के बावजूद किसान 60 दिनों से भी ज्यादा समय से प्रदर्शन कर रहे हैं और उनमें से कुछ ने अपनी जान भी गंवाई है।

सिद्धरमैया ने कहा, च्च्नरेंद्र मोदी 56 इंच के सीने की बात करते हैं, सीना कितना बड़ा है यह महत्वपूर्ण नहीं है, उसमें एक दिल होना चाहिए जो गरीबों के आंसू पोंछ सके। मोदी के पास वह नहीं है। क्या उन्होंने एक बार भी अब तक किसानों को बुलाया और उनसे बात की?’’ उन्होंने दावा किया कि मोदी ने इसे प्रतिष्ठा का मुद्दा बना लिया और कानून निरस्त नहीं करना चाहते। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार अंबानी और अडाणी जैसे बड़े कॉरपोरेट घरानों की च्च्गुलाम’’ बन गई है और जैसा उन्होंने फरमान सुनाया वैसा ही कानून बनाया गया।

प्रदेश के कृषि मंत्री बी सी पाटिल के किसानों के प्रदर्शन को च्च्आतंकवादियों द्वारा लड़ाई’’ बताए जाने संबंधी कथित बयान को सिद्धरमैया ने च्च्गैरजिम्मेदाराना’’ करार दिया। उन्होंने कहा, च्च्क्या सरकार के पास खुफिया तंत्र नहीं हैज्उन्हें बताने दीजिए कौन से आतंकवादी शामिल हैं, किसानों के बारे में बोलते हुए किसी को भी गैरजिम्मेदाराना बात नहीं कहनी चाहिए। उन्हें बताने दीजिए कि कौन से आतंकवादी हैं या फिर खालिस्तान आंदोलन से जुड़े लोग इससे संबंधित हैं।’’

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

भाजपा राज में जनता कराहने लगी-अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा राज में जनता कराहने लगी है। मंहगाई के चूल्हे...

पुलिस ने की माल में चोरी, देखिए ये वीड़ियो

वर्दी के नीचे कई शर्ट पहन कर चोरी कर ले जा रहा गोमतीनगर विस्तार का चोरकट सिपाही मेटल डिटेक्टर से पकड़ा गया,कर्मचारियों ने की...

पूर्वांचल दौरे पर अखिलेश यादव, कार्यकर्ताओं ने जोरदार किया स्वागत

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव वाराणसी पहुंच गए। वह तीन दिन के पूर्वांचल के दौरे पर आए हैं। वाराणसी एयरपोर्ट...

पारंपरिक ऐपण कलाकृति को मिल रहा नया आयाम

उत्तराखंड की पारंपरिक ऐपण कलाकृति को नया आयाम मिल रहा है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हालिया दिल्ली दौरे पर केंद्रीय मंत्रियों को ऐपण...

फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी में कैसे ली Alia ने फिल्म में एंट्री

बॉलीवुड फिल्म मेकर संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ (Gangubai Kathiawadi) का टीज़र हाल ही में रिलीज किया गया जिसमें आलिया भट्ट (Alia...