भैंस चराने वाला, 12वीं फेल, अब मुंबई पुलिस का डिप्टी कमिश्नर!

0
205

वर्ष 2005 में महाराष्ट्र कैडर में आईपीएस चुने गए मनोज शर्मा की जिंदगी संघर्षों से भरी रही है। वर्तमान में इनकी गिनती महाराष्ट्र पुलिस के ईमानदार आईपीएस अफसरों में होती है। मनोज शर्मा ने बातचीत में बताया कि वे औसत दर्जे के स्टूडेंट रहे हैं। नौवीं और दसवीं तृतीय श्रेणी से उत्तीर्ण की। उन्होंने बताया कि वे 12वीं तो पास ही नहीं कर पाए थे। 12वीं में फेल होने पर पूरे गांव में बेइज्जती सी महसूस होती थी, क्योंकि मनोज शर्मा भैंस चराते चराते उपन्यास पढ़ा करते थे। गांव वाले सोचते थे लड़का खूब पढ़ता है।12वीं में अच्छे नम्बरों से पास होगा। लेकिन ऐसा नहीं हो पाया था और वह फेल हो गए |

पर मनोज शर्मा ने असफलता के बावजूद हार नहीं मानने और ​बुलंद हौसलों से कामयाबी की सीढ़ी दर सीढ़ी चढ़ने का नाम है। इस बात का अंदाजा इससे सहज लगाया जा सकता है कि कभी अपने गांव में भैंस चराने और 12वीं में हिंदी को छोड़कर सारे विषयों में फेल हो जाना वाले ( IPS Manoj Sharma ) मनोज शर्मा वर्तमान में मुम्बई पुलिस के डिप्टी कमिश्नर हैं।
12वीं में फेल होने के बाद मनोज शर्मा एक बार तो निराश हो गए थे, मगर उन्होंने ​हिम्मत नहीं हारी। मनोज शर्मा के मित्र राकेश ने उनका हौसला बढ़ाया। फिर उन्होंने जमकर मेहनत की और 12वीं कक्षा में 70 फीसदी अंकों से उत्तीर्ण की। फिर यही नहीं रुके बल्कि कॉलेज में भी टॉप करके दिखाया। जिसके बाद मनोज शर्मा ने अपनी ज़िन्दगी का एक बड़ा फैसला लिया और वह सिविल सर्विसेस की तैयारी करने के लिए अपने घर से दूर दिल्ली आ गए। यहां भी मनोज शर्मा को आसानी से कामयाबी नहीं मिली। यूपीएससी परीक्षा में तीन बार असफल रहे। फिर आखिर वर्ष 2005 में भारतीय पुलिस सेवा में चयन होने में सफलता हासिल कर ही ली।

मुरैना की जौरा तहसील के बिलगांव में ग्रामीण विकास अधिकारी के रूप में पदस्थ ओमप्रकाश शर्मा व शकुंतला शर्मा की दूसरी संतान मनोज शर्मा की प्रारंभिक शिक्षा बिलगांव के सरकारी स्कूल में हुई। 9वीं, 10वीं की पढ़ाई के लिए जौरा के सरकारी बालक हाईस्कूल में दाखिल लिया। मनोज 9वीं में थर्ड डिवीजन में पास हुए, जबकि 10वीं में ग्रेस लेकर थर्ड डिवीजन आई। घर वाले चाहते थे कि वह क्लर्क बने इसलिए मनोज ने घरवालों की सलाह पर मैथ ले लिया। चूंकि उस समय नकल का कल्चर था और उन्हें उम्मीद थी कि वह पास हो जायेंगे। लेकिन ऐसा नहीं हो पाया | मनोज शर्मा को उनकी मेहनत और लगन ने आज मुंबई पुलिस का डिप्टी कमिश्नर बना दिया है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here