Saturday, November 28, 2020

बिहार के EX-IPS अधिकारी ने DGP को लिखा पत्र, नियुक्ति घोटाले के आरोपी और नीतीश कैबिनेट में मंत्री मेवालाल चौधरी से हो पूछताछ

Must read

आख़िरकार लम्बी शांति के बाद अब बोली स्मृति ईरानी जानिए क्या कहा

तेलंगाना (Telangana) की राजधानी हैदराबाद (Hyderabad) में स्थानीय निकाय चुनाव को लेकर राजनीति तेज काफी बढ़ गई है। इस बीच हैदराबाद में केंद्रीय मंत्री...

अच्छी पैदावार के लिए खेत में नमी होना बहुत आवश्यक है : नीति आयोग

बांदा : वर्षा बूंदे जहां गिरे वहीं पर रोके, जिस खेत में जितना पानी होगा उतनी अधिक नमी रहेगी और अच्छी पैदावार के लिए...

घोटालेबाज़ के आरोपित मंत्री के लिए हुआ बिहार की उपमुख्यमंत्री को दुःख

बिहार के शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी को लेकर राजनीति गर्म है. घोटाले के आरोपी मेवालाल चौधरी को लेकर विपक्ष नीतीश सरकार को घेर रहा...

ऐतिहासिक कार्तिक पूर्णिमा स्नान के लिए इन अधिकारियों को दी गई अहम जिम्मेदारी…

कोविड-19 मामलों में हो रही बृद्धि और इसी बीच 29/30 नवम्बर को कार्तिक पूर्णिमा का मुख्य स्नान पर्व और ददरी मेले को देखते हुए...

पटनाः बिहार में नीतीश कुमार एक बार फिर से बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लिया है। नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में एनडीए घटक दल के कुल 15 नेताओं मंत्री पद की शपथ ली । जेडीयू कोटे से भ्रष्टाचार के आरोपी विधायक मेवालाल चौधरी को भी मंत्री बनाया गया है। मेवालाल को मंत्री बनाये जाने पर नीतीश कुमार के सुशासन पर सवाल खड़े हो रहे हैं. न्यूज4नेशन के द्वारा यह खुलासा किये जाने के बाद सीएम नीतीश एक बार फिर से विरोधियों के निशाने पर आ गए हैं।

अब बिहार के एक पूर्व आईपीएस अधिकारी ने मेवालाल चौधरी को लेकर बिहार के डीजीपी को पत्र लिखा है। आईपीएस अधिकारी अमिताभ कुमार दास ने डीजीपी को लिखे पत्र में कहा है कि बिहार सरकार के मंत्री मेवालाल चौधरी की धर्मपत्नी नीता चौधरी 27 मई 2019 को अपने आवास पर पूरी तरीके से जल गई थी। 2 जून 2019 को उनकी मौत हो गई। मेवालाल चौधरी पर भागलपुर के सबौर थाने में नियुक्ति घोटाले का मामला दर्ज किया गया था।

अमिताभ कुमार दास अपने पत्र में लिखते हैं कि मुझे जानकारी है कि मेवालाल चौधरी की पत्नी की मौत के पीछे एक गहरा राजनीतिक षड्यंत्र है। संभवत मौत के तार नियुक्ति घोटाले से भी जुड़े हैं। सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर बिहार पुलिस ने अद्भुत तत्परता दिखाई थी। कृपया नेता चौधरी की रहस्यमई मौत में एसआईटी का गठन कर मंत्री मेवालाल चौधरी से गहन पूछताछ की जाए।

मेवालाल पर घोटाले के हैं गंभीर आरोप

जेडीयू के विधायक मेवालाल चौधरी जिस पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं और बिहार की निगरानी जांच ब्यूरो ने केस दर्ज कराया था उनको भी मंत्री पद से सम्मानित किया गया है। जेडीयू के विधायक और वर्तमान में मंत्री पद की शपथ ले चुके मेवालाल चौधरी 2010-15 के बीच में सबौर कृषि विवि में वाइस चांसलर थे। इन पर जूनियर वैज्ञानिक की बहाली में धांधली और भवन निर्माण में घपला के गंभीर आरोप हैं। मामला सामने आने के बाद बिहार में काफी हाय-तौबा मची थी। बिहार में नीतीश सरकार की फजीहत होने के बाद इस मामले की निगरानी ब्यूरो से जांच कराई गई। निगरानी ब्यूरो की जांच में आरोप प्रमाणित हुए इसके बाद मेवालाल चौधरी पर स्पेशल विजिलेंस ने 2017 में केस दर्ज किया था और भागलपुर के सबौर थाने में भी 2017 में केस दर्ज हुआ था। जदयू के विधायक मेवालाल चौधरी के खिलाफ आईपीसी की धारा 409, 420, 46,7 468, 471 और 120 बी के तहत भ्रष्टाचार के मुकदमा दर्ज है। इनके खिलाफ अभी भागलपुर के एडीजे-1 की अदालत में मामला लंबित है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

चीनी वैज्ञानिकों का Corona Virus को लेकर दावा- भारत ने दुनियाभर में फैलाया वायरस

नई दिल्ली : दुनियाभर में कोरोना वायरस फैलाने वाला चीन अब भारत के सिर पर कोरोना का दोष मारन। ये बात कुछ अजीब लग...

LJP का 20वां स्थापना दिवस आज, चिराग ने पर्सनल अटैक पॉलिटिक्स के लिए नीतीश-तेजस्वी दोनों को दोषी बताया

आज एलजेपी का 20वां स्थापना दिवस है और पार्टी कोरोना से बचाव के बीच LJP स्थापना दिवस समारोह मनाएगी. पार्टी ने पहले ही यह...

U.P : केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति हुई कोरोना संक्रमित, AIIMS दिल्ली किया रेफर

कानपुर : केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री और फतेहपुर की सांसद साध्वी निरंजन ज्योति कोरोना संक्रमित होने पर उन्हें बेहतर इलाज के लिए कानपुर के...

PM मोदी ज़ायडस बायोटेक पहुंचे, कोरोना ट्रायल वैक्सीन का करेंगे निरीक्षण

अहमदाबाद : एक ओर अहमदाबाद में जहां भारत बायोटेक की 'कोवैक्सीन' का परीक्षण शुरू हो गया है वहीं दूसरी ओर जायडस फार्मा की कोरोना...

Breaking news : यूपी में लव जिहाद पर लगाम लगाने वाले अध्यादेश को राज्यपाल की मिली मंजूरी, आज से लागू हुआ कानून

उत्तर प्रदेश में लव जिहाद के खिलाफ राज्य सरकार द्वारा पारित अध्यादेश को अब राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भी मंजूरी दे दी है। इसी...