बदायूं में बिजली चोरी के आरोप में जेल में बंद व्यक्ति की मौत में आया रहस्यमय मोड़

0
51

बदायूं के सहसवान तहसील परिसर के बराएदार ब्रजपाल की सनसनीखेज मौत के मामले में नया मोड़ आ गया है | मौत से पहले ब्रजपाल का एक वीडियो वायरल हो रहा है | यह वीडियो तब की है जब ब्रजपाल तहसील की जेल में था उस समय वो 8 दिनों से जेल में बंद था | जिसमे उन्होंने बताया कि मुझे रंजिशन झूठा बिजली चोरी केस में पकड़ा गया और घसीटते हुए जेल में बंद किया गया | 3 मिनट के इस वीडियो में उन्होंने बताया कि उसका नाम बृजपाल और पिता का नाम ओमपाल है |

उन्होंने बताया कि बिजली विभाग ने मुकदमा दर्ज करने के बाद उनकी RC काट दी | मुझे गलत पकड़ा गया, मेरी किसी ने 8 दिनों से बात तक नहीं सुनी | अब कांग्रेस और समाजवादी पार्टी इस मुद्दे को जोर शोर से उठाकर सरकार को घेर रही है | उनकी मांग है कि प्रशासनिक कर्मचारियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर सरकार मुआवजा दे |

ये है पूरा मामला

3 दिन पहले सहसवान तहसील परिसर की हवालात में बंद ब्रजपाल S/O ओमपाल 40 की अचानक हालत बिगड गई थी । तहसील प्रशासन ने आनन फानन में हवालात से निकालकर ब्रजपाल को chc सहसवान में पहुचाया और हालत की गंभीरता को देखते हुए उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया । जिला अस्पातल में पहुंचने से पहले बकाएदार की रास्ते में ही मौत हो गई ।

मृतक को बिजली चोरी का सम्मन शुल्क जमा न करने के कारण सहसवान तहसील में 11 दिनों से बंद रखा हुआ था | उन पर 81947 की RC कटी दिखाई गई थी | अब ब्रजपाल का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है |

सपा और कांग्रेस ने दिया मृतक के परिवार वालों का साथ

वही अब इस मामले को सपा और कांग्रेस किसी भी हालत में छोड़ना नहीं चाहते है और इसे बड़ा मुद्दा बना रहे है | कांग्रेस के महासचिव ने सहसवान पहुचकर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही करने को लेकर धरना दिया | वो इस घटना को हत्या बता रहे है | उन्होंने कहा जब वो बीमार था तो उसको अस्पताल में क्यों नहीं दिखाया गया | इस मौत में सहसवान तहसील के सभी अधिकारी दोषी है, और सभी पर मुकदमा दर्ज कर जेल भेजना चाहिए | जबकि RC किसी और की और पकड़ा गया किसी और को |

पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव ने दिए 50 हजार

ब्रजपाल की मौत के बाद समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद धर्मेन्द्र यादव ने मृतक के बेटे को 50 हजार रूपये दिए | वही पूर्व सांसद की माँग है कि पहले तो वो बिजली चोरी में थे ही नहीं तो पहले इसे सुधारना चाहिए था | फिर जब वो बीमार थे तो इलाज करना चाहिए था, वो नहीं हुआ अब जब वो FIR दर्ज कराना चाहते है तो FIR दर्ज क्यों नहीं हो रही है | किसानो का कर्ज माफ़ तो किया है अब फर्जी FIR के नाम पर मौत हो रही है | मगर भाजपा सरकार ने कोई कार्यवाही नहीं की है |

धर्मेंद्र यादव ने कहि धरना देने की बात

उन्होंने कहा इस मौत में जो भी दोषी है उस पर करवाई की जानी चाहिए थी जो अब तक नहीं हुई है | जबकि सरकार को कम से कम 25 लाख मुआवज़ा देना चाहिए था | वहीँ धर्मेंद्र यादव ने कहा की 10 तारीख तक अगर कोई कार्यवाही नहीं की गई तो समाजवादी पार्टी पूरे प्रदेश में जन आंदोलन करेगी और धरना देगी |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here