एनआरसी के मुद्दे पर केजरीवाल पर भड़के मनोज तिवारी, आई पुलिस कार्यवाही की नौबत

0
62

आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल कई बार अपनी जुबान की वजह से मुसीबत में फंस चुके हैं। कुछ ऐसा ही अब फिर हुआ जब अरविन्द केजरीवाल के NRC पर दिए बयान से बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी भड़क गए। उनके बयान से गुस्साए बीजेपी कार्यकर्ता केजरीवाल के घर के सामने विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर के बाहर बीजेपी के पूर्वांचल मोर्चे से जुड़े लोग जमकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस प्रदर्शन में बीजेपी कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को पानी की बौछार का इस्तेमाल करना पड़ा। वहीँ कुछ कार्यकर्ताओं को डिटेन भी किया गया। इस दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

तो मनोज तिवारी को छोड़नी पड़ेगी दिल्ली : केजरीवाल

बता दें कि इस प्रदर्शन में वे NRC को लेकर केजरीवाल के बयान की आलोचना कर रहे हैं। दरअसल मनोज तिवारी असम के तर्ज पर दिल्ली में एनआरसी लागू करने की मांग कई बार कर चुके हैं। उन्होंने कहा था कि बांग्लादेशी और रोहिंग्या सहित अवैध प्रवासियों की बड़ी संख्या में मौजूदगी के चलते दिल्ली में स्थिति ‘खतरनाक’ हो गई है। क्योंकि इन लोगों को आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त पाया गया है। इसके जवाब में केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी सांसद खुद दिल्ली के नहीं है। तिवारी मूल रूप से उत्तर प्रदेश के रहनेवाले हैं। सीएम केजरीवाल ने कहा था कि अगर राष्ट्रीय राजधानी में एनआरसी लागू हुआ तो सबसे पहले बीजेपी सांसद मनोज तिवारी को शहर छोड़ना होगा। इस बयान पर मनोज तिवारी ने खुद भी बेहद तीखी प्रतिक्रिया दी थी।

अरविंद केजरीवाल अपनी मानसिक स्‍थ‍िरता खो चुके हैं : मनोज तिवारी

मनोज तिवारी ने जवाब में कहा कि अरविंद केजरीवाल अपनी मानसिक स्‍थ‍िरता खो चुके हैं। अपनी प्रतिक्रिया में मनोज तिवारी ने कहा था कि जो लोग अन्य राज्यों से दिल्ली में आकर बसे हैं, उन्हें आप विदेशी मान रहे हैं…? आप उन्हें दिल्ली से खदेड़कर बाहर कर देना चाहते हैं, तो आप भी उन्हीं में से एक हैं। तिवारी ने कहा कि अगर यह उनका इरादा है, तो मुझे लगता है, वह अपनी मानसिक स्थिरता खो चुके हैं। किसी IRS अधिकारी को यह कैसे नहीं पता कि NRC क्या है? उनके साथ ही आप छोड़ बीजेपी में शामिल हुए कपिल मिश्रा ने कहा कि कुछ लोग एनआरसी में एन का मतलब नहीं समझते। उन्होंने कहा कि एन का मतलब नैशनल होता है।

धर्म नहीं कर्म से जीतेंगे चुनाव

गौरतलब है कि ऍम आदमी पार्टी ने आगामी विधानसभा चुनावों में धर्म की जगह कर्म को मुद्दा बनाने का फैसला लिया है। मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने अपने एक ट्वीट में लिखा ‘आज तक चुनाव जाति धर्म जैसे मुद्दों पर लड़े गए। ये चुनाव कामों पर लड़ा जाएगा। पहली बार कोई पार्टी कह रही है कि हमने आपकी ज़िंदगी सुधारी, इसलिए वोट दो।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here