अब ‘संदेशे आते हैं’ गा सकेंगे कश्मीर में तैनात सुरक्षा बल, मिले 300 सैटेलाइट फोन

0
94

370 हटने के बाद से कश्मीर घाटी में किसी भी तरह की जनसंचार सुविधा को बंद कर दिया गया था। घाटी में धारा 144 लगने के बाद से ही सैन्य बल बढ़ा दिया गया था। इस दौरान किसी तरह की अफवाह ना फैले, इसके लिए सरकार ने टीवी-केबल, मोबाइल नेटवर्क, इंटरनेट की सुविधा पर रोक लगा दी। इससे वहां के लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन इस सब के बीच वहां पर मौजूद अधिकारियों और सुरक्षाबलों के जवानों के लिए फोन की सुविधा मुहैया कराई गई है। खुद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजित डोभाल ने 300 सैटेलाइट फोन की मंजूरी दी, जो वहां पर तैनात सुरक्षाबलों को मुहैया कराए गए हैं।

परिजनों की भी कोई खबर नहीं

जनसंचार सुविधा के बंद होने से स्थानीय जनता के साथ-साथ उनकी सुरक्षा में तैनात 40 हजार से अधिक अतिरिक्त सुरक्षाबलों को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। जवान अपने परिजनों से बात करने या खबर लेने में भी नाकाम हैं। घाटी में हर तरह से सरकारी कामकाज आगे बढ़ता रहे इसके लिए पहले ही 1000 सैटेलाइट फोन सरकारी अफसरों को दिए गए थे। कश्मीर में दौरे पर गए अजित डोभाल ने जवानो की परेशानी देखते हुए उन्हें और 300 सैटेलाइट फोन मुहैय्या कराने की मंज़ूरी दे दी है।

गौरतलब है कि 12 अगस्त को ईद भी है। ऐसे में देश के अन्य हिस्सों में रह रहे कश्मीरी अपने घर पहुंच रहे हैं। लेकिन वह अपने परिवार से संपर्क नहीं कर पा रहे हैं, जिसकी वजह से काफी मुश्किलें हो रही हैं। एक स्थानीय महिला ने बताया कि इस बार सुरक्षा के इंतजाम काफी कड़े हैं, हम लोग अपने परिजनों से भी बात नहीं कर पा रहे हैं। ना सिर्फ फोन पर बात बंद है, बल्कि कश्मीरी युवा किसी तरह के सोशल मीडिया साइट पर भी एक्सेस नहीं कर पा रहे हैं।

बता दें कि 370 हटने की घोषणा के बाद कश्मीर की स्थिति जानने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल खुद कश्मीर दौरे पर गए थे। वहां उन्होंने स्थानीय लोगों से बात की और उनकी परेशानियां पूछी। इसी दौरे के ऊपर सवाल उठाते हुए कांग्रेस नेता ग़ुलाम नबी आज़ाद ने विवादास्पद बयान दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here