Saturday, May 15, 2021

अखिलेश और योगी सरकार में सुर्खियों में क्यों बना रहता है रिवरफ्रंट जानिए क्या है अंदर की कहानी….

Must read

टूर्नामेंट खेलने आई छात्रा के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया

अजमेर राजस्थान में अजमेर शहर के आदर्श नगर थाना पुलिस ने दो साल पहले अजमेर में टूर्नामेंट खेलने आई एक नाबालिग खिलाड़ी छात्रा के...

औरैया में वैक्सीनेशन के प्रति चिकित्साधिकारी लापरवाही आई सामने

औरैया,  उत्तर प्रदेश में औरैया के जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने वैक्सीनेशन की धीमी पड़ी गति को तेज करने के लिए जिले की सीएचसी/पीएचसी...

उद्धव ने की आईजीएम अस्पताल के कर्मचारियों की तारीफ

कोल्हापुर, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कोल्हापुर के इचलकरांजी स्थित इंदिरा गांधी मेमोरियल (आईजीएम) अस्पताल में लगी आग को अपनी सूझबूझ...

पोस्ट कोविड मरीजों को म्यूकोरमाइकोसिस संक्रमण का खतरा

औरैया, कोरोना की दूसरी लहर से उबर चुके मरीजों में अब म्यूकोरमाइकोसिस फंगल इन्फेक्शन का खतरा गहराने लगा है। चिकित्सकों के अनुसार यह दुर्लभ फंगल...

उत्तर प्रदेश का रिवर फ्रंट जब से बनना शुरू हुआ तब से सुर्खियों में रहा पहले देश का सबसे खूबसूरत बनने वाला रिवरफ्रंट के नाम से फिर अखिलेश यादव के पसंदीदा ड्रीम प्रोजेक्ट को लेकर उसके बाद जब अखिलेश यादव की सरकार चली गई तो घोटाले को लेकर फिर एक बार यह रिवरफ्रंट सुर्खियों में आ गया है

अब आपको पूरा मामला बताते हैं आपको बता दें कि इस रिवर फ्रंट पर 2017 में योगी सरकार ने जांच के आदेश दिए थे जिसके बाद गोमती नगर थाने में रिवर फ्रंट में हुए भ्रष्टाचार के मामले में एफ आई आर दर्ज की गई और वह f.i.r. ईडी और सीबीआई को ट्रांसफर कर दी गई अब इस पूरे मामले का जांच पिछले 3 सालों से सीबीआई कर रही है साथ में ईडी भी छानबीन की कर रही है मगर अभी तक जांच कहां तक पहुंची इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है मगर इस पूरे मामले में कई लोगों की गिरफ्तारी भी हुई यह गिरफ्तार हुए लोग सरकारी विभाग से हैं और इनके ऊपर आरोप है कि यह इस पूरे प्रोजेक्ट में बड़ा घोटाला किए हैं मगर घोटाले कैसे हुए किस तरीके से हुए और कहां-कहां पर हुए इसका पूरा अभी बेवरा ना तो जांच एजेंसियों ने दी है और ना तो सरकार ने बताया है फिलहाल विपक्ष पूरे मामले को लेकर सरकार पर हमलावर है और विपक्ष का कहना है कि सरकार उत्तर प्रदेश का विकास नहीं चाहती इस वजह से विकास कार्यों को रोका जा रहा है वहीं सरकार की तरफ से आरोप है कि विपक्ष में बैठी समाजवादी पार्टी जब सरकार में थी तो रिवर फ्रंट में घोटाला हुआ है और इसकी जांच हो रही है और बड़ी मछलियां भी इसमें फसती हुई नजर आ रही है

मगर अब सवाल यही पर खड़ा होता है!

2017 में जब योगी सरकार आई तो योगी सरकार ने तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट रिवर फ्रंट पर जांच बैठा दी कहा गया कि इस पूरे प्रोजेक्ट में बड़ा घोटाला हुआ है इस मामले में f.i.r. हुई और वह f.i.r. ईडी और सीबीआई को हैंड ओवर कर दी गई जिसके बाद सीबीआई और ईडी इस पूरे मामले पर जांच कर रही है और अभी तक बताया जाता है कि कुल 8 लोगों के खिलाफ f.i.r. की गई है जिसमें से 5 लोगों से ईडी ने पूछताछ की है इस मामले में सिंचाई विभाग के एसएन शर्मा, काजिम अली, गुलेश चंद, शिवमंगल यादव, कमलेश्वर सिंह, अखिल रमन, रूप सिंह यादव, सुरेश यादव नामजद किए गए

बताया जाता है कि रिवर फंड का कुल बजट 1513 करोड़ था जिसमें से 1437 करो रुपए खर्च कर दिए गए हैं और बताया जाता है कि अभी तक इस का 60 परसेंट का भी काम पूरा नहीं हुआ है इसी पूरे मामले को लेकर सरकार जांच करवा रही है आखिर पैसा कहां-कहां खर्च हुआ है

फिलहाल अभी तक पूरी जांच की रिपोर्ट सामने नहीं आई है ईडी सीबीआई पिछले 3 सालों से जांच कर रही है मगर यह जांच कब तक पूरी होगी इसका भी कोई औपचारिक बयान या जवाब सरकार और जांच एजेंसियों की तरफ से नहीं दिया गया इसी मामले में शुक्रवार को गोमती रिवर फ्रंट घोटाले की जांच कर रही सीबीआई ने सिंचाईं विभाग के पूर्व चीफ इंजीनियर रूप सिंह यादव को गिरफ्तार कर लिया है फिलहाल अभी भी राजधानी लखनऊ का बेस्ट टूरिस्ट प्लेस में एक रिवर फ्रंट का काम रुका हुआ है

- Advertisement -

More articles

Latest article

आज़म खां की पत्नि ने दिया बड़ा बयान

रामपुर...... शहर विधायक एवम् आज़म खां की पत्नि डॉ तज़ीन फातिमा ने ईद के मौक़े पर कहा कि त्योहार ख़ुशी के लिए मनाये जाते...

बच्चों में कोविड-19 – क्या होते हैं लक्षण, क्या किया जाए

नई दिल्ली. एक तरफ जहां वयस्क और बुजुर्गों में कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) के लिए होड़ मची हुई है, वहीं फिलहाल एक वर्ग ऐसा भी...

तमिलनाडु और असम में नए मंत्रियों पर कितने हैं आपराधिक केस और कितनी है संपत्ति उनकी, जानें

असम में हुए ताजा चुनावों में 7 फीसद मंत्रियों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। वहीं 14 मंत्रियों की औसतन संपत्ति 4.78...

असम के नगांव में आकाशीय बिजली गिरने से 18 हाथियों की मौत

गुवाहाटी. असम (Assam) के नगांव जिले (Nagaon) में जंगल में आकाशीय बिजली गिरने से 18 हाथियों (Elephants) की मौत हो गई. वन विभाग के एक...

जब असम पहुंचे बंगाल के गवर्नर धनखड़ तो पैरों में गिर पड़ी महिलाएं, जानें वजह

गुवाहाटी-पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने रणपगली में कैंप का दौरा किया और लोगों से मुलाकात की। चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में...