छह गेंद पर छह छक्के मारने वाले इस बेहतरीन क्रिकेटर ने आखिर कर दी पारी डिक्लेअर

0
112

सिक्सर किंग के नाम से मशहूर क्रिकेटर युवराज सिंह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है | युवराज सिंह ने आज साउथ मुंबई होटल में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में यह ऐलान किया | युवराज सिंह जब यह बात कह रहे थे तो वह बहुत भावुक नज़र आये | युवराज सिंह की उपलब्धियां सभी को मालूम है | 2011 के वर्ल्ड कप में युवराज सिंह की बदौलत टीम ने वर्ल्ड कप अपने नाम किया था| युवराज ने अपने करियर की शुरुआत सौरव गांगुली की कप्तानी में साल 2000 में नैरोबी में की थी | तब केन्या के खिलाफ पदार्पण वनडे मुकाबले में उनकी बैटिंग नहीं आई थी | युवी ने अपना आखिरी वनडे दो साल पहले 30 जून 2017 को वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था |

युवराज सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अपनी कुछ सबसे पसंदीदा इनिंग, नेटवेस्ट फाइनल 2002 , पहला टेस्ट शतक 2004 के बारे में बताया | युवराज ने कहा मेरे रोल मॉडल हमेशा से सचिन तेंदुलकर रहे है |

युवराज सिंह टीम इंडिया के ऐसे चुनिंदा खिलाड़ियों में से रहे, जिन्होंने वनडे और टी-20 में जबरदस्त सफलता हासिल की है | युवी ने देश के लिए 304 वनडे खेलकर 8701 रन बनाए | उन्होंने 14 शतक भी जड़े | वनडे क्रिकेट में युवराज के नाम 111 विकेट भी हैं | वहीं टी-20 क्रिकेट में युवराज ने 58 मैच खेलकर 117 रन बनाए | इस प्रारूप में उनके नाम 8 अर्धशतक हैं | टी-20 में उन्होंने 28 विकेट चटकाए हैं | उन्होंने 40 टेस्ट खेलकर 1900 रन बनाए | इनमें 3 शतक भी शामिल हैं |

2007 के वर्ल्ड कप में भी युवराज सिंह का बहुत बड़ा योगदान रहा | 2007 में इंग्लैंड के खिलाफ ही युवराज सिंह ने 6 छक्के जड़ कर विश्व रिकॉर्ड बनाया था | युवराज सिंह ने वर्ल्ड कप में 12 गेंदों मे अर्धशतक बनाया था जिस रिकॉर्ड को आज तक कोई नहीं तोड़ सका है | वहीं 2011 के वर्ल्ड कप में युवराज सिंह ने आलराउंड प्रदर्शन कर भारत को वर्ल्ड कप जिताया | 2011 में युवराज सिंह “मैन ऑफ़ द सीरीज” भी रहे थे | युवराज सिंह हमेशा लड़ते रहे है | 2011 के वर्ल्ड कप के दौरान ही युवराज कैंसर से जूझ रहे थे लेकिन यह बात युवराज ने किसी को बताई नहीं थी | 2011 वर्ल्ड कप के बाद युवराज ने यह बात जनता के सामने रखी की उनको कैंसर है | वह समय युवराज सिंह के लिए बहुत चुनौतीपूर्ण था | लेकिन युवराज सिंह ने हार नहीं मानी और उन्होंने 2012 में ही टीम में वापसी कर ली थी | लेकिन इस युवराज को एक बार फिर फिटनेस के चलते टीम से बाहर कर दिया गया था | बाद में फिर युवराज टीम में आये और उन्होंने अपने वनडे करियर का सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाया | युवराज सिंह ने इंग्लैंड के खिलाफ 150 रन ठोके थे | इसके बाद युवराज सिंह ने अपना आखिरी मैच 30 जून 2017 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ खेला और अब युवराज सिंह ने संन्यास ले लिया है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here