जेएमएम के इस नेता के बीजेपी में शामिल होते ही आई मारपीट की नौबत, जानिए वजह

0
73

झारखण्ड विधानसभा चुनाव से पहले जेएमएम (JMM) के नेता शशिभूषण मेहता (Shashibhushan Mehta) गुरुवार को बीजेपी में शामिल हो गए। बीजेपी में बड़े ढोल-बाजो के साथ उनका स्वागत किया गया। वहीँ बीजेपी (BJP) कार्यालय में उनके समर्थकों ने सुचित्रा मिश्रा (Suchitra Mishra) के परिजनों के साथ मारपीट की। बता दें कि शशिभूषण मेहता पर ऑक्सफाेर्ड स्कूल की वार्डन सुचित्रा मिश्रा की हत्या (Murder) करवाने का आरोप है। शशिभूषण मेहता ऑक्सफोर्ड स्कूल के डायरेक्टर भी हैं। इस मामले में वह अपराधी साबित होकर जेल भी जा चुके हैं। फिलहाल शशिभूषण जमानत पर बाहर हैं।

गुरुवार को बीजेपी कार्यालय के बाहर सुचित्रा मिश्रा के बेटे और परिजन महिला संगठन के साथ शशिभूषण मेहता के बीजेपी में शामिल होने का विरोध (Protest) करने पहुंचे थे। यहाँ शशिभूषण के समर्थकों ने सुचित्रा मिश्रा के बेटे के साथ मारपीट की और उन्हें मंच से फेंक दिया। इसके बाद सुचित्रा के एक बेटे ने भाजपा को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि मेहता को पार्टी ने टिकट दिया, तो वह आत्मदाह कर लेंगे। उन्होंने कहा कि लोग भारत माता के लिए जान देते हैं। वह जन्म देने वाली अपनी मां के लिए जान दे देंगे।

शशिभूषण के शामिल होने से विश्वास टूटेगा

गौरतलब है कि सुचित्रा के बेटों अभिषेक मिश्रा और आशुतोष मिश्रा बीजेपी के सदस्य हैं। शशिभूषण के बीजेपी में शामिल होने को लेकर दोनों बुधवार काे अपनी मामी के साथ प्रदेश भाजपा कार्यालय पहुंचे। अभिषेक ने प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष प्रदीप वर्मा काे आग्रह पत्र साैंपा। इसमें उन्होंने कहा कि मेरी मां के हत्यारे काे पार्टी में शामिल न कराएं। इससे पार्टी की छवि तो धूमिल हाेगी ही, हमारा विश्वास भी टूटेगा। उधर, शशिभूषण मेहता ने कहा कि यह मामला अभी कोर्ट में है। कुछ खास लोग मेरा विरोध करवा रहे हैं। इसके बाद गुरुवार को सुचित्रा के दोनों बेटों ने अपने परिजनों के साथ पार्टी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। उनके हाथों में तख्तियां थीं, जिस पर लिखा था : ‘सुचित्रा मिश्रा का हत्यारा – शशि भूषण मेहता’, ‘वी वांट जस्टिस’, ‘जस्टिस फॉर सुचित्रा मिश्रा’ और ‘होंठ सबके सिले हुए हैं, हत्यारों संग मिले हुए हैं’ जैसे नारे लिखे थे।

परिजनों को है इस बात का डर

बता दें कि सुचित्रा मिश्रा की साल 2012 में हत्या कर दी गई थी। उनके हत्या के मामले में अपराधी शशिभूषण मेहता के बीजेपी में शामिल होने का सुचित्रा के परिजन विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि बीजेपी शशिभूषण मेहता को पंकी सीट से प्रत्याशी बना सकती है। अगर वह वहां से जीत जाते हैं, तो सत्ता का इस्तेमाल कर उन्हें परेशान कर सकते हैं। परिजनों के मुताबिक धन- बल का इस्तेमाल कर शशिभूषण मेहता ने अबतक हत्या के मामले को उलझा रखा है। परिजनों ने मामले पर पार्टी के ध्यान नहीं देने पर रांची से दिल्ली तक इसका विरोध करने की बात की। बता दें कि शशिभूषण मेहता पिछली बार जेएमएम के टिकट पर पंकी से ही विधानसभा चुनाव लड़े और हार गये थे।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा ये

प्रदेश बीजेपी उपाध्यक्ष आदित्य साहू ने कहा कि सुचित्रा मिश्रा के परिजनों ने इस सिलसिले में बुधवार को ही आवेदन दिया था। इस पर विचार किया जा रहा है। इसलिए अभी विरोध करना जायज नहीं है। उन्होंने कहा कि शशिभूषण मेहता के बीजेपी में शामिल होने से विरोधी घबरा गए हैं। इसलिए राजनीतिक साजिश कर उन्हें रोकने की कोशिश कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here