हरियाणा में अलग हुए बीजेपी अकाली दल, ये विधायक बना वजह

0
71

हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए शिरोमणि अकाली दल बीजेपी के साथ गठबंधन करने में नाकाम रही। इसके बाद अब शिरोमणि अकाली दल (SAD) ने राज्य विधानसभा चुनाव इंडियन नेशनल लोकदल(INLD) के साथ लड़ने की घोषणा की है। केंद्र में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में सहयोगी अकाली दल ने राज्य में तब बीजेपी से संबंध तोड़ लिए जब कलांवली से उसके एक मात्र विधायक बलकौर सिंह ने बीजेपी का दामन थाम लिया।

शिरोमणि अकाली दल ने पंजाब में बीजेपी के साथ मिलकर लंबे समय तक सत्ता संभाली है। केंद्र में भी दोनों का गठबंधन है। लेकिन हरियाणा के एकमात्र अकाली दल विधायक के बीजेपी में शामिल होने के बाद अकाली दल ने राज्य में तब बीजेपी से संबंध तोड़ लिए। वहीँ अकाली दल ने इनेलो के साथ 2014 के विधानसभा चुनाव भी गठबंधन में लड़े थे। बाद में 2017 में सतलुज-यमुना लिंक नहर के मुद्दे पर दोनों के रास्ते अलग हो गए थे। हालांकि इस चुनाव में अकाली दल कितने सीटों पर चुनाव लड़ेगा, इसको लेकर कोई घोषणा नहीं हुई है।

अक्टूबर में होने हैं चुनाव

राज्य की 90 विधानसभा सीटों के लिए 21 अक्टूबर को मतदान होना है। मतों की गिनती वोटिंग के तीन दिन बाद यानी 24 अक्टूबर को होगी। हरियाणा में नामांकन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इनेलो ने गुरुवार सुबह ही पानीपत की 4 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम घोषित किए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here