Wednesday, April 14, 2021

पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति और आवास सहायता के आवेदनों का शीघ्र करें निराकरण – लवानिया

Must read

भारत की दो और महिला पहलवानों अंशु और सोनम ने हासिल किया टोक्यो ओलम्पिक का कोटा

नयी दिल्ली, भारत की दो और महिला पहलवानों अंशु मलिक (57 किग्रा) तथा सोनम मलिक (62 किग्रा) ने कजाकिस्तान के अल्माटी में एशियन ओलम्पिक...

हथियार फैक्ट्री का भंडाफोड़,भारी मात्रा में हथियार बनाने के उपकरण बरामद

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जनपद में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर जिले की पुलिस एसएसपी अभिषेक यादव के नेतृत्व में इन दिनों अवैध...

सारण में सामूहिक दुष्कर्म के मामले में आरोपित समेत तीन गिरफ्तार

छपरा, बिहार में सारण जिले के खैरा थाना क्षेत्र में एक छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म का वीडियो वायरल‌ होने के बाद पुलिस ने...

तीर्थ यात्रियों को लेकर आ रही बस पलटी, लगभग 2 दर्जन यात्री घायल

फर्रुखाबाद ब्रेकिंग तीर्थ यात्रियों को लेकर आ रही स्लीपर बस ड्राइवर को झपकी आने से बिजली के पोल से टकरा कर पलटी लगभग 2 दर्जन...

भोपाल, मध्यप्रदेश के भोपाल जिले के कलेक्टर अविनाश लवानिया ने निर्देश दिए हैं कि पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति और आवास सहायता योजना तहत विभिन्न स्तरों पर लंबित आवेदनों का समय सीमा में निराकरण किया जाए।


लवानिया ने बताया है कि वर्ष 2017-18 से 2019-20 तक आवेदन नहीं कर सकने वाले विद्यार्थियों के ऑफलाइन आवेदन विभागीय अधिकारी सहायक आयुक्त, आदिवासी एवं अनु .जाति विकास भोपाल के कार्यालय में जमा किए जाएंगे, जिसे परीक्षण के बाद छात्रवृत्ति पोर्टल पर प्रविष्टि करने एवं नियम अनुसार स्वीकृत करने की कार्यवाही की जाएगी।


उन्होंने बताया कि जाति, जेंडर, समग्र आईडी, आधार, मोबाइल नंबर, पाठ्यक्रम, टी.एफ.डब्ल्यू, परीक्षा परिणाम विलंब, अपूर्ण गलत अभिलेख, संस्था द्वारा अपात्र घोषित अन्य किसी तकनीकी कारण से लंबित रहने वाले प्रकरणों में आवेदनों का प्रशिक्षण करने के लिए समिति बनाई गई है। इसमें सहायक आयुक्त आदिवासी एवं अनुसूचित जाति विकास भोपाल एवं संबंधित शासकीय संस्था के प्राचार्य नोडल अधिकारी एवं संबंधित अशासकीय शिक्षण संस्था के प्राचार्य सदस्य रहेंगे।

ये भी पढ़े – जानिए कौन सा राज्य चलाएगा तंबाकू उत्पाद ,सिगरेट के लिए जन-जागरूकता अभियान


उन्होंने कहा है कि शासकीय, अशासकीय संस्था प्रमुखों का यह दायित्व होगा कि वह अपनी संस्थाओं के विद्यार्थियों के आवेदन समय सीमा में जिला कार्यालय में उपलब्ध कराएं। इसके साथ ही सभी संस्था प्रमुख समय-सीमा समाप्ति पर प्रमाण पत्र देंगे कि संस्था में किसी पात्र विद्यार्थी का वर्ष 2017-18 से वर्ष 2019-20 का कोई आवेदन पत्र पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति,आवास सहायता स्वीकृति के लिए लंबित नहीं है।

- Advertisement -

More articles

Latest article

मंदिर में शादी कर लांखो की नकदी और जवैलरी लेकर रफूचक्कर हुई लूटेरी दुल्हन

जनपद मुज़फ्फरनगर के थाना भौरा कलां क्षेत्र के गांव मोहम्मदपुर रायसिंह निवासी किसान देवेंद्र मलिक एक महिला और एक रिस्तेदार के हाथों ठगी का...

अजमेर में भगवान झूलेलाल की ज्योत एवं प्रतिमा का जुलूस निकाला

अजमेर,  राजस्थान में अजमेर में सिंधी समाज के इष्टदेव भगवान झूलेलाल के अवतरण दिवस चेटीचंड के मौके पर आज भगवान झूलेलाल की ज्योत एवं...

राजनांदगांव में कोरोना संक्रमण बढ़ा, सुविधाओं को हो रहा विस्तार

राजनांदगांव,  छत्तीसगढ़ की राजनांदगांव नगर पालिका सहित जिले में एक ही दिन में 1284 कोरोना संक्रमित मरीज सामने आये और लगभग दर्जनभर लोगों की...

जीटीए का स्थायी राजनीतिक समाधान निकाला जायेगा: शाह

लेबोंग,  केंन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को दार्जिलिंग हिल्स के लोगों को आश्वासन दिया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गोरखालैंड क्षेत्रीय प्रशासन...

एम्स में खाली बेड कोरोना मरीजों के लिए-शिवराज

भोपाल,  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकरण के संबंध में चिंता जाहिर करते हुए कहा कि...