Saturday, January 16, 2021

अहमद पटेल के निधन पर पीएम मोदी और अमित शाह ने जताया दुख, कभी इनके बिच थे विवाद भरे रिश्ते

Must read

सूबे में कम हुआ COVID का कहर, पिछले 24 घंटे में आये महज इतने मामले

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में वैक्सीनेशन की तैयारियों के बीच कोरोना (COVID) संक्रमितों की संख्या 500 से घटकर पिछले 24 घंटे में 487 पहुंच गई हैं। ...

जेल में अजीवन कारावास की सजा भुगत रहे कैदी की मौत, जाने वजह

उज्जैन,  मध्यप्रदेश के उज्जैन की केन्द्रीय भेरवगढ जेल में आजीवन कारावास की सजा भुगत रहे एक कैदी की उपचार के दौरान मौत हो गई...

Gorakhpur में महिलाएं नहीं हैं सुरक्षित, हो रही उपेक्षा- प्रियंका गांधी

लखनऊ : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुये आरोप लगाया है। मिशन शक्ति के प्रचार...

कोरोना से मौतों के मामले में महाराष्ट्र विश्व का पहला प्रांत,मृतकों की कुल संख्या 50 हजार के पार

मुंबई,10 जनवरी महाराष्ट्र में कोरोना वायरस 50 हजार से ज्यादा मरीजों की जान ले चुका है और यह विश्व का पहला ऐसा राज्य है...

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का निधन का आज सुबह निधन हो गया है। कोरोना वायरस से पीड़ित होने के बाद उनकी तबीयत लगातार बिगड़ती जा रही थी, जिसके बाद उन्होंने गुरुग्राम के मेदांता हॉस्पिटल में अपनी आखरी सांस ली।
वही पीएम मोदी और अमित शाह ने ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने ट्वीट कर लिखा की “उन्होंने (अहमद पटेल) कई वर्षों तक जनता की सेवा की। वह अपने तेज दिमाग की वजह से जाने जाते थे। कांग्रेस पार्टी को मजबूत बनाने में उनकी अहम भूमिका को हमेशा याद रखा जाएगा। उनके बेटे फैजल से बात कर संवेदना व्यक्त की। अहमद भाई की आत्मा को शांति मिले।’

वही आपको बता दे की इनके रिश्तो का विवाद भी काफी चर्चा में रहा था इसका एक उदाहरण आपको गुजरात में देखने को मिला था, जहां 2017 में हुए राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस और भाजपा में कांटेदार जंग हुई थी। इस चुनाव में सीधा मुकाबला कांग्रेस के अहमद पटेल और बीजेपी के अमित शाह के बीच में था, जो पूरी रात तक चलता रहा लेकिन अंत में अहमद पटेल को जीत नसीब हुई। साल 2017 में गुजरात में विधानसभा चुनाव के करीब ही राज्यसभा का चुनाव भी हुआ था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और तत्कालीन बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के दिल्ली की राजनीति में आने के बाद यहां पहला चुनाव था, ऐसे में हर किसी की निगाहें इसपर टिकी थीं। तीन सीटों पर यहां चुनाव हुआ था, जिसमें दो पर भाजपा की जीत पक्की मानी जा रही थी और तीसरी पर सबकी नजरे तिकी हुई थी। तीसरी सीट पर ही कांग्रेस के नेता अहमद पटेल उम्मीदवार थे और फिर बीजेपी ने उनके सामने अपना एक उम्मीदवार खड़ा कर दिया था। लेकिन कांग्रेस के लिए चिंता ये थी कि चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस के कई विधायकों ने राज्य में इस्तीफा दिया था, जिससे पार्टी कमजोर हुई थी। ऐसे में बीजेपी की ओर से अहमद पटेल को राज्यसभा चुनाव में मात देने का प्लान बनाया गया और इसे लागू करने के लिए खुद अमित शाह वहां पर मौजूद थे।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

बंगाल में 623 नए covid केस, रिकवरी रेट जानकर हैरान हो जायेंगे आप 

  कोलकाता: पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस (covid) के 623 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या शुक्रवार...

बिहार :नाबालिग छात्र ने किया suicide, सामने आ रही है ये वजह 

  गया. बिहार में गया जिले के रामपुर थाना क्षेत्र में एक नाबालिग छात्र ने प्रेम प्रसंग में आत्महत्या(suicide) कर ली। पुलिस सूत्रों ने शुक्रवार...

Mathura : लेफ्टिनेंट जनरल करियप्पा ने दी शहीदों को श्रद्धाजंलि

  मथुरा: 15 जनवरी सेना दिवस के अवसर पर शुक्रवार को लेफ्टीनेन्ट जनरल सी. पी. करियप्पा ने राष्ट्रीय सुरक्षा और सम्मान के लिए सर्वोच्च बलिदान...

राम मंदिर निर्माण के लिए दान देते हुए कल्याण सिंह ने जताई ये इच्छा, आप भी जानें  

    लखनऊ: राम मंदिर आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह (kalyan singh) ने कहा कि उनकी अंतिम इच्छा...

सुशील मोदी ने ट्वीट कर क्यों कहा-बिचौलियों की लड़ाई लड़ रहा है विपक्ष,पढ़िए यहाँ  

  पटना: राज्यसभा सांसद एवं बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (sushil kumar modi) ने कृषि कानून के विरोध में आंदोलनरत किसानों से...