Wednesday, April 14, 2021

इस गर्मी में हमीरपुर जिले में जानिए पानी के लिए क्यों तरस जाएंगे लोग

Must read

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में खलल डालने वाले उपद्रवी वह शरारतीतत्वों को पुलिस ने जारी किया रेड कार्ड

सहारनपुर थाना फतेपुर पुलिस ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को निर्विघ्न एवं शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए पुलिस ने कसी कमर! पंचायत चुनाव में खलल...

डॉ. भागवत कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल में हुए भर्ती

नयी दिल्ली,  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख डॉ. मोहन भागव कोरोना वायरस (कोविड-19) से ग्रसित हो गए है। इस बात की जानकारी संघ ने शुक्रवार...

युवक की पीट पीट कर की हत्या ,7 लोगो के खिलाफ मामला दर्ज ,3 गिरफ्तार

फ़िरोजाबाद-थाना दक्षिण क्षेत्र विजय टॉकीज के सामने एक 18 वर्षीय युवक जब्बार  की पीट पीट कर हत्या कर दी गई , परिजनो का आरोप...

Up के गांवों में आग का कहर,लगभग एक हजार एकड़ गेंहू जलकर राख

Up के पीलीभीत तहसील अमरिया के 4 गांवों में आग का कहर, अज्ञात कारणों से लगी आग ने लगभग एक हजार एकड़ गेंहू को जलाकर किया...

हमीरपुर , उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में इस साल दस मीटर जल स्तर नीचे चले जाने से आने वाले गर्मियो के दिनों में नब्बे फीसदी राजकीय व प्राईवेट नलकूप जवाब दे जायेगे।
आने वाले समय में तालाब व पशुओं को पीने के लिये गड्ढे नही भरे जायेगे।

नलकूप विभाग के सहायक अभियंता कौशल किशोर ने आज कहा कि जिले का जल स्तर लगातार नीचे जा रहा है। इस साल दस मीटर जल स्तर नीचे चला गया है। जिले में 525 राजकीय नलकूप स्थापित है ।

पिछले साल करीब चार पच्चीस फीसदी राजकीय नलकूपों का जल स्तर इतने नीचे चला गया था कि दो दो जीआई पाइप बढ़ाने के बाद भी नलकूपो ने पानी नही दिया। गोहांड, राठ ब्लाक के
सहायक अभियंता उमाशंकर यादव ने कहा कि इन दोनो ब्लाक में कम से कम दस से लेकर बारह मीटर तक जल स्तर नीचे चला गया है|

ये भी पढ़े – बलिया में करेंट लगने से एक दुकानदार की मौत

जब कि इस ब्लाक में चार साल पहले लघु सिचाई विभाग ने करोडो रुपये की लागत के तालाब खुदवाये| मगर उनमे बरसात का पानी नही भरा जिससे क्षेत्र में वाटर रिचार्जिंग नही हो पायी।
कुरारा ब्लाक के सहायक अभियंता रामसेवक चौधरी ने कहा कि इस ब्लाक की हालत सबसे ज्यादा खराब है। यहां पर अभी से राजकीय नलकूप जवाब दे रहे है।

क्षेत्र में 250 राजकीय नलकूप है, जिसमे अभी से करीब 125 नलकूप में पानी नहीं आ रहा है । मई जून में करीब अस्सी फीसदी नलकूप ठप्प हो जायेगे। विभाग के सहायक अभिंयता शिवम पांडेय का कहना है कि शासन से जो वाटर रिचार्जिंग की जा रही है वह तरीका गलत है।

ज्यादातर लोग गड्ढे नही खोदते है और ना ही नालो में पानी रोक कर उसका संग्रह किया जाता है। यदि छोटे छोटे नालो में बोर कर उसमे पाइपो के माध्यम से बरसात का पानी रिचार्ज किया जाये तो उससे काफी मदद मिल सकती है।

- Advertisement -

More articles

Latest article

मंदिर में शादी कर लांखो की नकदी और जवैलरी लेकर रफूचक्कर हुई लूटेरी दुल्हन

जनपद मुज़फ्फरनगर के थाना भौरा कलां क्षेत्र के गांव मोहम्मदपुर रायसिंह निवासी किसान देवेंद्र मलिक एक महिला और एक रिस्तेदार के हाथों ठगी का...

अजमेर में भगवान झूलेलाल की ज्योत एवं प्रतिमा का जुलूस निकाला

अजमेर,  राजस्थान में अजमेर में सिंधी समाज के इष्टदेव भगवान झूलेलाल के अवतरण दिवस चेटीचंड के मौके पर आज भगवान झूलेलाल की ज्योत एवं...

राजनांदगांव में कोरोना संक्रमण बढ़ा, सुविधाओं को हो रहा विस्तार

राजनांदगांव,  छत्तीसगढ़ की राजनांदगांव नगर पालिका सहित जिले में एक ही दिन में 1284 कोरोना संक्रमित मरीज सामने आये और लगभग दर्जनभर लोगों की...

जीटीए का स्थायी राजनीतिक समाधान निकाला जायेगा: शाह

लेबोंग,  केंन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को दार्जिलिंग हिल्स के लोगों को आश्वासन दिया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गोरखालैंड क्षेत्रीय प्रशासन...

एम्स में खाली बेड कोरोना मरीजों के लिए-शिवराज

भोपाल,  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकरण के संबंध में चिंता जाहिर करते हुए कहा कि...