Wednesday, March 3, 2021

प्रदेश की चौथी रीजनल फॉरेंसिक साइंस लैब (एफएसएल)में जांच का कार्य शुरू

Must read

मिश्र एवं गहलोत ने संत रविदास एवं शहीद चंद्रशेखर आजाद को किया नमन

जयपुर ,  राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित कई नेताओं ने संत रविदास की जयंती एवं...

जानिए खाद्य और तेलों के दाम

सियागंज किराना बाजार में शक्कर में पूछपरख रही। खाद्य तेल उठाव सुस्ती से नरमी लिए रहे। आज मूंगफली तेल, सोयाबीन रिफाइंड सस्ता बिका। तिलहन...

अजय कुमार लल्लू ने योगी सरकार के बेरोजगारी के झूठे आंकड़ो के लगाए आरोप

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने योगी सरकार के बेरोजगारी के झूठे आंकड़े का आरोप लगाते हुये कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी...

पुलिस को मिली बड़ी सफलता, प्रतिबंधित गोवंशीय पशुओं से भरे ट्रक को पकड़ा

बिग ब्रेकिंग बाराबंकी बाराबंकी पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद के निर्देशन में चलाए जा रहे अभियान के दौरान हैदरगढ़ एसएचओ ओमवीर सिंह चौहान ने पुलिस टीम के...

चंडीगढ़ , हरियाणा में अपराध की जांच में तेजी लाने के लिए प्रदेश में स्थापित चौथी रीजनल फॉरेंसिक साइंस लैब (एफएसएल) ने हिसार में कार्य करना शुरू कर दिया है।


प्रदेश में तीन रीजनल लैब गुरुग्राम के भोंडसी, रोहतक के सुनारिया और पंचकुला के मोगीनंद में पहले से ही संचालित हैं। इसके अतिरिक्त, मधुबन में मुख्य फॉरेंसिक साइंस लैब की सुविधा है।
पुलिस के प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि नई रीजनल एफएसएल ने 12 फरवरी से नारकोटिक, टोक्सिकोलॉजी और सेरोलॉजी डिविजन में विभिन्न आपराधिक मामलों से संबंधित सैंपल प्राप्त करना शुरू कर दिया है।

इस लैब पर केवल तीन जिलों हिसार, फतेहाबाद और सिरसा सहित पुलिस जिला हांसी के केसों की जांच का ही भार होगा। रीजनल लैब की स्थापना का उद्देश्य वैज्ञानिक तरीकों का उपयोग करके अधिक कुशल जांच प्रक्रिया सुनिश्चित करना है। लैब के शुरू होने से उपरोक्त जिलों के लोगों को जल्द न्याय मिलेगा।

ये भी पढ़े –कर्नाटक में जिलेटिन छड़ों में विस्फोट से छह लोगों की मौत, मोदी ने जताया शोक


प्रवक्ता ने बताया कि इससे पहले इन चारों जिलों में होने वाले अपराधों से संबंधित सैंपलों की जांच एफएसएल मधुबन में की जाती थी। वहां केस जमा करने और रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए ज्यादा समय और संसाधन दोनो की खपत हो रही थी साथ ही जांच का कार्य अधिक होने के कारण रिर्पोट आने में भी विलंब होता था। अब रीजनल लैब संचालित होने से पूरी जांच प्रक्रिया तेज होगी और आम जनता को जल्द से जल्द नतीजे मिलेंगे।


उल्लेखनीय है कि डीजीपी मनोज यादव की देखरेख में निदेशक एफएसएल हरियाणा मधुबन, डॉ. आर.सी. मिश्रा और आईजीपी हिसार रेंज,संजय कुमार के सहयोग से क्षेत्रीय एफएसएल की स्थापना की गई है तथा डॉ. अजय कुमार को रीजनल एफएसएल, हिसार का सहायक निदेशक एवं इंचार्ज नियुक्त किया गया है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

भारत नेट परियोजना के पूरा होने में कई कारणों से हुई देरी- भूपेश

रायपुर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज विधानसभा में स्वीकार किया कि भारत नेट परियोजना फेस टू के क्रियान्वयन में देरी हुई है,इसके...

कोल्हापुर फैक्टरी में भीषण आग लगी

कोल्हापुर,  महाराष्ट्र में कोल्हापुर के हाथकानानगाले शहरी तहसील की लक्ष्मी औद्योगिक एस्टेट में एक फैक्टरी में मंगलवार को भीषण आग लग जाने से कम...

सरकार के जवाब से असंतुष्ट सपा सदस्यों ने किया परिषद से बहिर्गमन

लखनऊ,  उत्तर प्रदेश विधान परिषद में कृषि मण्डी संशोधन अधिनियम संशोधन कर मण्डियों की उपयोगिता कम करने के संबंध में दी सूचना पर सरकार...

फर्रुखाबाद जिला पंचायत सदस्यों की आरक्षण सूची जारी

फर्रुखाबाद जिला प्रशासन द्वारा जिला पंचायत सदस्यों की आरक्षण सूची जारी कर दी गयी। राजेपुर प्रथम : अनारक्षित राजेपुर द्वितीय : पिछड़ी जाति महिला राजेपुर तृतीय :...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने बजट को लेकर कही ये बात

भोपाल, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश का आज विधानसभा में प्रस्तुत वार्षिक बजट प्रदेश को प्रगति पथ पर ले...