धीमे खेलने वालों का सरताज कौन? अब होगी टेस्ट क्रिकेट की वर्ल्ड चैंपियनशिप !

0
98

काफी समय से टेस्ट क्रिकेट में बदलाव की बात चल रही है। टेस्ट क्रिकेट की घटती लोकप्रियता ने ICC को सोचने पर मजबूर कर दिया है | T20 क्रिकेट के दौर में टेस्ट क्रिकेट जीवित रहे इसलिए आईसीसी इस तरह की चैंपियनशिप लेकर आई है | आजकल लोग T20 क्रिकेट देखना पसंद करते हैं | टेस्ट क्रिकेट 5 दिनों तक चलता हैं इसलिए लोग इसे नहीं देखना चाहते | अब आईसीसी ने टेस्ट क्रिकेट को दिलचस्प बनाने के लिए ये चैंपियनशिप शुरू की है |

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में 9 टीमें होंगी शामिल

इस चैंपियनशिप में टेस्ट की टॉप 9 टीमें शामिल होंगी। इन टीमों में आईसीसी की टॉप रैंकिंग कायम भारतीय टीम के अलावा ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, न्यूज़ीलैंड, साउथ अफ्रीका, श्रीलंका, पकिस्तान, वेस्टइंडीज़ और बांग्लादेश भी शामिल है।

ऐसी होगी चैम्पियनशिप

चैम्पियनशिप के दौरान अगले दो साल में कुल 27 सीरीज के तहत 71 टेस्ट मैच खेले जाएंगे। इस दौरान चोटी पर रहने वाली दो टीमें जून 2021 में ब्रिटेन में आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियन का फाइनल खेलेंगी। हर टीम तीन घरेलू सीरीज और तीन सीरीज विदेशी जमीन पर खेलेंगी। हर मैच के लिए टीमों को प्वाइंट मिलेंगे। हर सीरीज में 120 प्वाइंट होंगे और जितने भी मैच उस सीरीज में खेले जाएंगे, उनमें बराबार बांट दिए जाएंगे।

उदाहरण के लिए दो मैचों की सीरीज में हर मैच के लिए 60 प्वाइंट होंगे, जबकि तीन मैचों की सीरीज में हर मैच के लिए 40 प्वाइंट रखे जाएंगे। टाई हुए टेस्ट मैच में 50 फीसद प्वाइंट दिए जाएंगे, जबकि ड्रॉ मैच में 3:1 प्वाइंट उपलब्ध होंगे। चैम्पियनशिप के दौरान कम से कम दो मैच और अधिकतम पांच मैचों की सीरीज दो टीमें खेल सकती है।

इस टेस्ट चैम्पियनशिप की शुरुआत एशेज से होगी

इस चैंपियनशिप की सबसे रोमांचक और बड़े टेस्ट सीरीज एशेज के साथ ही शुरुआत होगी । बता दे की ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के लिए एशेज, वर्ल्डकप से भी जायदा बड़ा टूर्नामेंट है और वहा के लोग भी बेसब्री से इसका इंतज़ार होता है। एशेज के साथ शुरुआत से चैंपियनशिप को काफी फायदा मिलेगा। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक अगस्त से शुरू हो रही एशेज सीरीज और इसके साथ ही टेस्ट चैम्पियनशिप की शुरुआत होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here