बनारस में सावधान होकर गंगा को देखियेगा! आ गयी है आफत

0
109

भीषण गर्मी के बाद झमाझम हुई बारिश ने भले ही लोगों को राहत पहुँचाई हो लेकिन पहाड़ो पर हुई बारिश ने गंगा किनारे रहने वालों और रोजाना गंगा स्नान करने और दर्शन पूजन करने वालो की मुश्किलें बढ़ा दी है। अगर घाटों के किनारे रहने वाले लोगो की माने तो महज दो दिनों में ही गंगा ने बड़ी तेजी से बढ़ना जारी हुआ है।

करीब 10 फिट के आसपास पानी सामान्य दिनों के हिसाब से ज्यादा बढ़ चुका है । जिसका नतीजा है कि वाराणसी के अस्सी घाट से लेकर राजघाट तक गंगा नदी के किनारे घाटों पर बने हुए बड़े छोटे मन्दिर मिलाकर करीब 100 मन्दिर गंगा की आगोश में समा चुके है।

वहीं इस मंदिरों में पूजन करने आने वालों की माने तो अब 3 महीने तक इस मंदिरों में पूजन पूरी तरीके से बन्द रहेगा। जब गंगा की धारा शांत होगी और गंगा सामान्य होंगी उसके बाद इन मंदिरों में पूजा पाठ शुरू की जाएगी।

ऐसे हालात वाराणसी के पंचगंगा घाट के कई शिव मंदिरों और मणिकर्णिका घाट के विशाल मंदिर का है। इसके अलावा अब पूजा कराने वाले पंडित भी लगातार स्थान बदल रहे है तो वही नहाने के नजरिये से बहाव तेज होने से खतरे भी रहते है और गहराई का अनुमान नही होता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here