Friday, December 4, 2020

लद्दाख बॉर्डर पर भारतीय फौज से भिड़े चीनी जवान, ये हुआ अंजाम

Must read

बड़ी खबर : हैदराबाद नगर निकाय चुनाव की मतगणना शुरू, 9 बजे तक आएगा पहला रुझान

बड़ी खबर : हैदराबाद नगर निकाय चुनाव की मतगणना शुरू, 9 बजे तक आएगा पहला रुझान हैदराबाद नगर निगम चुनाव (ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल इलेक्शन) के...

परमाणु बम बनाने की नई ‘फैक्‍ट्री’ बना रहा पाकिस्‍तान, सैटलाइट तस्‍वीरों से खुलासा

नई दिल्ली : सेटेलाइट तस्वीरों से खुलासा हुआ है कि भारत से जारी तनाव के बीच पाकिस्तान ने अपने चश्मा परमाणु संयंत्र में परमाणु...

तमंचे पे नांच

रोहतास से हर्ष फायरिंग की एक ताजा तस्वीर सामने आई है जिसमें बिक्रमगंज के एक मुखिया अपने समर्थकों के साथ डिहरी में आयोजित एक...

आज RSS प्रमुख मोहन भागवत आएंगे पटना, बिहार विजय के बाद संघ प्रमुख का है पहला दौरा

बिहार चुनाव में बीजेपी की जीत के बाद आरएसएस के प्रमुख मोहन भागवत पहली बार आज पटना आएंगे. पटना में आरएसएस की अखिल भारतीय...

कश्मीर मुद्दे(Kashmir Issue) पर चीन(China) के अलावा पाकिस्तान(Pakistan) का साथ देने वाले देशों में किसी का नाम शामिल नहीं है। भारत-पाक के बीच तनाव के माहौल में चीन भी भारत(India) की तरफ आँख उठाने लगा है। बुधवार को लद्दाख बॉर्डर पर स्थित पैंगोंग झील के उत्तरी किनारे के पास भारत और चीनी सैनिकों के बीच भिड़ंत हो गई। पेट्रोलिंग कर रहे भारतीय सैनिकों की मौजूदगी पर दिक्कत जताते हुए चीनी सैनिको ने इसका विरोध किया था।

लद्दाख(Laddakh) बॉर्डर पर स्थित पैंगोंग झील(Pangong Lake) के उत्तरी किनारे पर जब भारतीय सैनिक(Indian Army) पट्रोलिंग पर थे, तभी उनका सामना चीन के पीपल्स लिब्रेशन आर्मी के सैनिकों के साथ हो गया। चीनी सैनिकों ने भारतीय सेना के मौजूदगी का विरोध किया, जिसके बाद दोनों पक्षों में धक्का-मुक्की हुई।दोनों देशों की तरफ से इलाके में अपने सैनिकों की संख्या बढ़ा दी गई। देर शाम तक दोनों में संघर्ष चलता रहा।दोनों देशों के बीच संघर्ष तब शांत हुआ जब दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई। जानकारी के अनुसार भारतीय सैनिक भारतीय सीमा के ही अंदर थे जिस वजह से वे अडिग रहे। सेना ने बुधवार की घटना के बाद शिकायत दर्ज की है। दोनों सेनाओं के बीच इस टकराव की जगह के पास चुशुल-मोल्दो में सीमा कर्मियों की बैठक करने के लिए कहा गया है।

गौरतलब है कि हाल के वर्षों में दोनों देशों की सेनाओं के आमने-सामने और सीमा उल्लंघन की घटनाओं में कमी आई है। रक्षा मंत्रालय ने 2018-19 की अपनी वार्षिक रिपोर्ट में कहा कि भारत-चीन सीमा पर स्थिति शांतिपूर्ण बनी हुई है। हालांकि लद्दाख को केंद्रीय शासित प्रदेश बनाए जाने से चीन भी गुस्साया हुआ है। वह कश्मीर मुद्दे पर यूएन में पाकिस्तान का साथ दे चुका है। वहीँ गृह मंत्री अमित शाह यह साफ कर चुके हैं कि पीओके और अक्साई चिन(Aksai Chin) भी भारत का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि वे जब भी कश्मीर की बात करेंगे, तो उसमे पीओके और अक्साई चिन भी शामिल होंगे।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

बड़ी खबर : किसानों का फरमान, 8 दिसंबर को भारत बंद तो 5 को PM का पुतला दहन

नई दिल्ली : कृषि कानून को लेकर किसान और केंद्र सरकार आमने-सामने खड़ी है। कोई भी झुकने को राजी नहीं है। इस बीच दिल्ली...

FICCI में उदय शंकर का बढ़ा कद, अब मिली ये जिम्मेदारी

स्टार’ (Star) और ‘डिज्नी इंडिया’ (Disney India) के चेयरमैन और ‘द वॉल्ट डिज्नी कंपनी एशिया पैसिफिक’ (The Walt Disney Company Asia Pacific) के प्रेजिडेंट...

MLC Election : सपा प्रत्याक्षी की जीत से बोखलाए भाजपा, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

झांसी : उत्तर प्रदेश विधान परिषद (MLC) स्नातक इलाहाबाद-झांसी खंड की मतगणना के दौरान शुक्रवार को उस समय अफरातफरी मच गयी जब मतगणना में...

सपा ने बनारस में दोनों सीटें जीती, मनाया जश्न

बीजेपी को सबसे बड़ा झटका पूर्वांचल क्षेत्र में लगा है, जो सीएम योगी आदित्यनाथ का मजबूत गढ़ माना जाता है. वाराणसी सीट पर बीजेपी...

अक्षय कुमार ने CM योगी से अयोध्या में अपनी फिल्म ‘राम सेतु’ की शूटिंग के लिए मांगी अनुमति

लखनऊ : बॉलीवुड फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अयोध्या में अपनी अगली फिल्म 'राम सेतु' की शूटिंग के लिए अनुमति...