Saturday, January 16, 2021

Bihar : स्कूल खोलने पर बोले शिक्षा मंत्री, कहा – खतरे में नहीं डालेंगे बच्चों की जिंदगी

Must read

Athens: यूनानी प्रधानमंत्री ने चुनाव की संभावनाओं को किया खारिज

Athens: यूनान के प्रधानमंत्री किरियाकोस मित्सोटाकिस ने कहा है कि 2021 में चुनाव नहीं होंगे तथा सरकार अपने चार वर्ष के कार्यकाल तक काम...

तीनों कृषि कानूनों के अमल पर रोक, सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार को लगाई फटकार

  केंद्र सरकार द्वारा पास किए गए तीनों कृषि कानून के लागू होने पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है। सर्वोच्च अदालत ने मंगलवार को...

किसान आंदोलन पर अयोध्या के महंत ने बोल दी बड़ी बात, इनको खोज रहे हैं किसान

बाराबंकी के पलौली क्षेत्र में आयोजित रामलीला में अयोध्या के महंत बाबा परमहंस दास पहुंचे। उन्होंने किसान आंदोलन को लेकर कहा जो यह दिल्ली...

विधानसभा चुनाव अकेले दम पर लड़ेगी बसपा : मायावती

लखनऊ:  बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने शुक्रवार को ऐलान किया कि उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को...

देश भर में कोरोना का क़हर अभी जारी है. मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है और मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रहा है. इस बीच अब बिहार सरकार ने एक बार फिर से स्पष्ट कर दिया है कि राज्य में कोरोना के कारण मार्च से बंद प्राथमिक और मध्य स्कूलों को खोलने को लेकर सरकार अभी कोई जल्दबाजी में नहीं है. शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने कहा है कि पढ़ाई के लिए हम बच्चों की जिंदगी खतरे में नहीं डाल सकते हैं. स्कूल खोलने का निर्णय जल्दबाजी में नहीं लिया जाएगा. बता दें कि राज्य के 50 हजार से अधिक प्राथमिक स्कूल अभी बंद हैं. शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि संक्रमण का खतरा अभी टला नहीं है इसलिए खतरा मोल नहीं ले सकते. बता दें कि बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या 230632 पहुंच गई है और अब तक 1221 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि 224221 मरीज स्वस्थ भी हो चुके हैं. बिहार में फिलहाल 5190 एक्टिव केस मौजूद हैं.

दिल्ली और अन्य राज्यों में कोरोना के तेजी से हो रहे प्रसार के कारण राज्य सरकार कोई ढिलाई देने के मूड में नहीं है. पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण से पांच और मरीजों की मौत के बाद सरकार और भी चौकन्नी हो गई है. अशोक चौधरी ने कहा कि एक्सपर्ट की टीम के साथ सलाह करेंगे. इसके बाद उच्च स्तरीय बैठक आयोजित की जाएगी जिसमें फैसला होगा कि स्कूल कब खुलेंगे. उन्होंने कहा कि प्रदेश में माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक स्कूल खुले हुए हैं. उसमें कोविड की गाइडलाइन का पालन करते हुए क्लास चलाई जा रही है. यह क्लास भी एक तरह से कोचिंग क्लास की तरह संचालित हो रही है.उन्होंने बताया कि इसमें बच्चे अपनी कठिनाइयों को हल कराने आ रहे हैं. बच्चों और शिक्षकों को भी रोज न बुलाकर एक विशेष फार्मूले के तहत बुलाया जा रहा है.एक तिहाई बच्चे ही रोज बुलाए जा रहे हैं. हालांकि इन कक्षाओं में विद्यार्थियों की उपस्थिति निराशाजनक रही है. हालात ये हैं कि कोविड संक्रमण के डर से दस फीसदी बच्चे भी स्कूल नहीं आ रहे हैं.

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

बंगाल में 623 नए covid केस, रिकवरी रेट जानकर हैरान हो जायेंगे आप 

  कोलकाता: पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस (covid) के 623 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या शुक्रवार...

बिहार :नाबालिग छात्र ने किया suicide, सामने आ रही है ये वजह 

  गया. बिहार में गया जिले के रामपुर थाना क्षेत्र में एक नाबालिग छात्र ने प्रेम प्रसंग में आत्महत्या(suicide) कर ली। पुलिस सूत्रों ने शुक्रवार...

Mathura : लेफ्टिनेंट जनरल करियप्पा ने दी शहीदों को श्रद्धाजंलि

  मथुरा: 15 जनवरी सेना दिवस के अवसर पर शुक्रवार को लेफ्टीनेन्ट जनरल सी. पी. करियप्पा ने राष्ट्रीय सुरक्षा और सम्मान के लिए सर्वोच्च बलिदान...

राम मंदिर निर्माण के लिए दान देते हुए कल्याण सिंह ने जताई ये इच्छा, आप भी जानें  

    लखनऊ: राम मंदिर आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह (kalyan singh) ने कहा कि उनकी अंतिम इच्छा...

सुशील मोदी ने ट्वीट कर क्यों कहा-बिचौलियों की लड़ाई लड़ रहा है विपक्ष,पढ़िए यहाँ  

  पटना: राज्यसभा सांसद एवं बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (sushil kumar modi) ने कृषि कानून के विरोध में आंदोलनरत किसानों से...