कोविड सेंटर में बेड खाली नहीं पॉजिटिव केसों को भेजा घर

0
24

झुंझुनू। जिला प्रशासन और चिकित्सा विभाग की लापरवाही ना केवल आमजन पर भारी पड़ रही है। बल्कि आने वाले समय में जानलेवा भी हो सकती है। झुंझुनू जिले के पचेरी गांव में शनिवार सुबह करीब 60 से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव आने की सूचना है। तब से रविवार को समाचार लिखे जाने तक इन पॉजिटिव केसों का इलाज शुरू नहीं हो पाया है। दो दिन बीत जाने के बाद भी ये पॉजिटिव केस या तो खुलेआम बाजार में घूम रहे है। या फिर घर के बाहर।

जब स्थानीय मीडियाकर्मियों ने इन्हें कोविड केयर सेंटर की बजाय बाजार और घर के बाहर देखा तो इनसे पता चला कि शनिवार को उन्हें पचेरी के सिंघानिया यूनिवर्सिटी में बुलाया गया था। वे वहां पर गए भी थे। लेकिन वहां से उन्हें यह कहकर वापस लौटा दिया कि उनके पास बैड खाली नहीं है। बैड की व्यवस्था कर उन्हें बुला लिया जाएगा। लेकिन दो दिन बीत जाने के बाद समाचार लिखे जाने तक ना तो जिला प्रशासन और चिकित्सा विभाग के पास बैडों की व्यवस्था हुई और ना ही इनका इलाज शुरू हो पाया है।

गंभीर बात यह है कि दो दिन बीत जाने के बाद भी रविवार दोपहर तक बुहाना एसडीएम जीतू कुलहरि कह रही थी कि कि वे बाजार बंद करवाने के लिए सोच रही है। यानि कि कर्फ्यू लगाने की चर्चा ही थी। लेकिन 30 से ज्यादा घंटे बाद भी यह चर्चा निर्णय में नहीं बदल सकी है। लेकिन देर शाम को इस संदर्भ में जिला कलेक्टर उमरदीन खान ने एक आदेश जारी कर पचेरी कलां ग्राम की राजस्व सीमा में कफ्र्यू लगाया। यह कर्फ्यू 29 सितंबर तक लगाया गया हैं। इसके बाद फिर से इसका रिव्यू किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here