पहले जयराम रमेश फिर सिंघवी और अब थरूर, कांग्रेस में मोदी की तारीफ!

0
96

राजनीति में एक पार्टी का नेता बहुत कम अवसर पर किसी दूसरी पार्टी के लिए अच्छा बोलते हुए मिलता है। यदि कोई बोल दे तो उसके पार्टी छोड़ने की सम्भावनाओ पर विचार होने लगता है। कुछ ऐसा ही किया है पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में से एक जयराम रमेश ने। दिल्ली में राजनीतिक विश्लेषक कपिल सतीश कोमीरेड्डी की किताब ‘मालेवॉलेंट रिपब्लिक : ए शॉर्ट हिस्ट्री ऑफ द न्यू इंडिया’ के विमोचन के दौरान कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने केंद्र सरकार की सराहना की।

पत्रकारों से चर्चा के दौरान जयराम रमेश ने केंद्र सरकार के बारे में बात की। उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कार्यशैली में हमेशा नकारात्मक चीज देखना, या फिर उनके द्वारा किए गए काम को कोई तवज्जो नहीं देना और सिर्फ उनकी इमेज पर निशाना साधने से कोई फायदा नहीं होगा। विपक्ष को इस बात को समझना चाहिए।’ उन्होंने मोदी सरकार की कई योजनाओं का जिक्र किया और उनका लाभ भी बताया। जयराम रमेश ने कहा कि 2014 से 2019 तक मोदी सरकार ने बिजली के क्षेत्र में, उज्ज्वला योजना के जरिए लाखों लोगों को फायदा पहुंचाया है। यही कारण है कि लोगों ने उनपर विश्वास जताया और विपक्ष को इस बात को स्वीकार करना चाहिए। ‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ का उदाहरण देते हुए रमेश ने कहा कि ये योजना काफी सफल रही, जो जमीनी स्तर तक पहुंची। उन्होंने कहा कि 2019 के चुनाव में केंद्र सरकार की कुछ योजनाओं का मजाक उड़ाया गया, लेकिन PMUY उनमें से एक थी जिसने करोड़ों लोगों को फायदा पहुंचाया और केंद्र सरकार के लिए दोबारा वोट करने के लिए प्रोत्साहित किया।

कांग्रेस की गलती भी

इसके साथ ही रमेश ने मोदी के बात करने के तरीके की सराहना करते हुए कहा कि वे उस भाषा में बात करते हैं, जो भाषा लोग आसानी से समझते हैं। हमें ये भी मानना होगा कि जो काम लंबे समय से नहीं हुआ, वो उनके पहले कार्यकाल में हुआ। यही कारण है कि उनके काम को स्वीकार किए बिना आप उनका मुकाबला नहीं कर सकते हैं। सिर्फ उनकी बुराई करने से कोई फायदा नहीं होने वाला है। उन्होंने आगे बढ़ते हुए किसानो की समस्या को भी उठाया। उन्होंने बताया कि विपक्ष ने पूरे चुनाव प्रचार के दौरान किसानों की समस्या को लेकर बात की। लोगों ने भी माना कि किसानों को समस्या है लेकिन करोड़ों लोग ये मानने के लिए तैयार नहीं थे कि इस समस्या का कारण नरेंद्र मोदी हैं। इसका नतीजा चुनावों के बाद सभी के सामने था।

अभिषेक सिंघवी और शशि थुरूर भी जुड़े

गौरतलब है कि जयराम रमेश के इस बयान पर अभिषेक सिंघवी भी कुछ यही बोलते दिखे। उन्होंने ट्वीट किया कि ‘मोदी की नकारात्मक छवि पेश करने से कोई फायदा नहीं होगा। वह देश के प्रधानमंत्री हैं और ऐसा करने से उन्हें ही फायदा होता है। मोदी सरकार की उज्जवला स्कीम अच्छी योजनाओं में से एक हैं।’ अभिषेक सिंघवी के अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थुरूर भी इसी राह पर चलते दिख रहे हैं। उन्होंने कहा है कि ‘मैं पिछले 6 साल से कह रहा हूं कि हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अच्छे कामों की तारीफ करनी चाहिए। इससे जब वह गलतियां करते हैं, तब हमारी आलोचना की विश्वसनीयता बनी रहेगी। मैं अपने साथियों के बयान का स्वागत करता हूं, जिसकी पैरवी मैं बहुत पहले से कर रहा था।’ अब सोचने वाली बात है कि ये नेता वाकई सिर्फ ख्याल पेश कर रहे थे या ये बयान उनके हृदय-परिवर्तन की शुरुआत के संकेत हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here