Friday, May 14, 2021

प्रवासी बच्चों को मिलने वाले लाभों से संबंधित डाटा पेश करने का ‘सुप्रीम’ निर्देश

Must read

बीसीसीआई के स्कोरर के के तिवारी का कोरोना से निधन

नयी दिल्ली, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के आधिकारिक स्कोरर केके तिवारी का कोरोना के कारण निधन हो गया है। केके तिवारी पिछले कुछ समय...

आठवीं पास के लिए जिला अदालतों में 3500 से अधिक नौकरियां, इतने हजार तक वेतन

नई दिल्ली. सरकारी नौकरी तलाश रहे आठवीं पास युवाओं के लिए शानदार मौका है. मद्रास हाईकोर्ट ने तमिलनाडु के विभिन्न न्यायिक जिलों के लिए...

निकलोडियन ने 11वें ‘दादा साहेब फाल्‍के फिल्‍म फेस्टिवल’ में जीते पुरस्‍कार

मुंबई,  किड्स एंटरटेनमेन्‍ट चैनल निकलोडियन ने 11वें ‘दादा साहेब फाल्‍के फिल्‍म फेस्टिवल’ में कई पुरस्‍कार जीते हैं। किड्स एंटरटेनमेन्‍ट चैनल निकलोडियन ने अपने नाम एक और...

WHO की शीर्ष वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने बताई भारत में कोरोना विस्फोट की वजह

डॉक्टर सौम्या स्वामीनाथन (Soumya Swaminathan ) ने भारत में कोरोना (Coronavirus) के कहर को लेकर चिंता जताई है. उन्होंने कहा कि देश में अचानक...

नयी दिल्ली, उच्चतम न्यायालय ने राज्यों में प्रवासी बच्चों और श्रमिकों के बच्चों की संख्या के साथ-साथ उन्हें मिलने वाले लाभों से संबंधित आंकड़ा प्रदान करने का राज्य सरकारों को मंगलवार को निर्देश दिये।

मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति वी रमासुब्रमण्यम की खंडपीठ ने ‘चाइल्ड राइटस ट्रस्ट’ की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान राज्य सरकारों को डाटा उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

याचिका में मुख्य रूप से कोविड-19 महामारी के दौरान संविधान के अनुच्छेद 14, 15, 19, 21, 21ए, 39 और 47 के तहत प्रवासी बच्चों और प्रवासी परिवारों के बच्चों के मौलिक अधिकारों को लागू करने की मांग की गई है।

गैर सरकारी संगठन की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता जयना कोठारी ने पीठ से अनुरोध किया कि वह न केवल जवाब के लिए निर्देश दें, बल्कि राज्यों से प्रवासी बच्चों की संख्या प्रदान करने का अनुरोध करें, साथ ही उन्हें राज्य द्वारा दिए गए लाभों के बारे में भी बताएं।
न्यायालय ने उसके बाद राज्यों को संख्या प्रदान करने के साथ-साथ उन राज्यों में बच्चों पर स्थिति रिपोर्ट देने का भी निर्देश दिया।

- Advertisement -

More articles

Latest article

आज़म खां की पत्नि ने दिया बड़ा बयान

रामपुर...... शहर विधायक एवम् आज़म खां की पत्नि डॉ तज़ीन फातिमा ने ईद के मौक़े पर कहा कि त्योहार ख़ुशी के लिए मनाये जाते...

बच्चों में कोविड-19 – क्या होते हैं लक्षण, क्या किया जाए

नई दिल्ली. एक तरफ जहां वयस्क और बुजुर्गों में कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) के लिए होड़ मची हुई है, वहीं फिलहाल एक वर्ग ऐसा भी...

तमिलनाडु और असम में नए मंत्रियों पर कितने हैं आपराधिक केस और कितनी है संपत्ति उनकी, जानें

असम में हुए ताजा चुनावों में 7 फीसद मंत्रियों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। वहीं 14 मंत्रियों की औसतन संपत्ति 4.78...

असम के नगांव में आकाशीय बिजली गिरने से 18 हाथियों की मौत

गुवाहाटी. असम (Assam) के नगांव जिले (Nagaon) में जंगल में आकाशीय बिजली गिरने से 18 हाथियों (Elephants) की मौत हो गई. वन विभाग के एक...

जब असम पहुंचे बंगाल के गवर्नर धनखड़ तो पैरों में गिर पड़ी महिलाएं, जानें वजह

गुवाहाटी-पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने रणपगली में कैंप का दौरा किया और लोगों से मुलाकात की। चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में...