Friday, May 14, 2021

नवरात्र के अवसर पर माता के मंदिरों में सरकार के आदेशों का नहीं हो रहा है अनुपालन

Must read

धौलपुर में कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने पर 73,200 का वसूला जुर्माना

धौलपुर  राजस्थान के धौलपुर जिले में कोविड-19 प्रोटोकॉल की गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध गत 24 घंटों में 383 कार्रवाई करते 73200...

पवन सिंह का गाना सिंगल पलंगिया रिलीज

मुंबई, भोजपुरी सिनेमा के पावर स्टार पवन सिंह का गाना सिंगल पलंगिया रिलीज हो गया है। पवन सिंह का गाना सिंगल पलंगिया पति-पत्नी के नोक-झोक...

Kisan Andolan में महिला से रेप का दावा, योगेंद्र यादव बोले- अभी इसकी पुष्टि नहीं

नई दिल्ली. संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने सोमवार को कहा कि वह इस आरोपों की जांच करेगा कि उसके कुछ नेताओं को टीकरी बॉर्डर प्रदर्शन...

रामगोविंद चौधरी ने योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर किया बड़ा खुलासा

रामगोविंद चौधरी ने योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर कहा कोरोना महामारी की दूसरी लहर से पूरा प्रदेश भयंकर रूप से प्रभावित है। प्रतिदिन 30...

आज चैत्र नवरात्र का प्रथम दिन है । नवरात्र शुरू होते ही लगभग सभी देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं की अपार भीड़ देखी जाती है । इस बार कोविड-19 के दूसरे चरण में महामारी का अनियंत्रित प्रसार हो रहा है । जिसको रोकने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गाइडलाइन जारी करते हुए स्पष्ट रूप से कहा गया कि सभी धार्मिक स्थानों पर एक साथ 5 लोगों से अधिक किसी भी दशा में श्रद्धालु धार्मिक स्थलों के अंदर दर्शन करने के लिए प्रवेश नहीं करेंगे । सरकार के इस आदेश का पुलिस प्रशासन के द्वारा कितना पालन कराया जा रहा है और जनता कितना पालन कर रही है ? इसको जानने के लिए हमारे संवाददाता ने अमेठी जनपद के अति प्राचीन सुप्रसिद्ध पौराणिक मंदिर मां कालिका के धाम कालिकन पहुंचकर वहां का जायजा लिया । जहां पर किसी के भी द्वारा सामाजिक दूरी का पालन नहीं किया जा रहा है । वहां पर पहुंचने वाले श्रद्धालु बिना मास्क के ही दर्शन कर रहे हैं । सबसे बड़ी बात तो यह है कि पुलिस प्रशासन पूरी तरह से फेल नजर आ रही है ।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी कोविड की गाइडलाइन का पालन करवाने के लिए मंदिर परिसर के अंदर और आसपास प्रशासन का कोई भी दिखाई नहीं पड़ रहा है। इस प्रकार हम कह सकते हैं की जनता और प्रशासन दोनों मस्त हैं । इस पांडेमिक से किसी का कोई लेना देना नहीं है । सारी बातें सिर्फ कागजों पर ही सीमित है जबकि अमेठी जनपद में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है । बीते 24 घंटे में 26 करोना के नए संक्रमित मरीज बड़े जिसके बाद जिले में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 133 हो गई है। अभी तक अमेठी जिले में 3891 लोग कोरोनावायरस हो चुके हैं जबकि 37 लोगों की मृत्यु कोरोनावायरस के संक्रमण से हुई है । इसके बावजूद जिले में इस प्रकार की ढिलाई कहीं ना कहीं आने वाले समय में बड़ा संकट उत्पन्न कर सकती है।

- Advertisement -

More articles

Latest article

आज़म खां की पत्नि ने दिया बड़ा बयान

रामपुर...... शहर विधायक एवम् आज़म खां की पत्नि डॉ तज़ीन फातिमा ने ईद के मौक़े पर कहा कि त्योहार ख़ुशी के लिए मनाये जाते...

बच्चों में कोविड-19 – क्या होते हैं लक्षण, क्या किया जाए

नई दिल्ली. एक तरफ जहां वयस्क और बुजुर्गों में कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) के लिए होड़ मची हुई है, वहीं फिलहाल एक वर्ग ऐसा भी...

तमिलनाडु और असम में नए मंत्रियों पर कितने हैं आपराधिक केस और कितनी है संपत्ति उनकी, जानें

असम में हुए ताजा चुनावों में 7 फीसद मंत्रियों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। वहीं 14 मंत्रियों की औसतन संपत्ति 4.78...

असम के नगांव में आकाशीय बिजली गिरने से 18 हाथियों की मौत

गुवाहाटी. असम (Assam) के नगांव जिले (Nagaon) में जंगल में आकाशीय बिजली गिरने से 18 हाथियों (Elephants) की मौत हो गई. वन विभाग के एक...

जब असम पहुंचे बंगाल के गवर्नर धनखड़ तो पैरों में गिर पड़ी महिलाएं, जानें वजह

गुवाहाटी-पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने रणपगली में कैंप का दौरा किया और लोगों से मुलाकात की। चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में...