Friday, May 14, 2021

महाराष्ट्र से मजदूरों का पलायन आरंभ, बड़वानी में 120 और खरगोन में 88 संक्रमित पाये गये

Must read

महामारी के दौर में नर्सों का आभार जताया नायडू ने

नयी दिल्ली उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा है कि महामारी के इस दौर में सभी नर्स और स्वास्थ्य कर्मी सेवा के लिए तत्पर...

आखिर क्या है उत्तराखंड में कोरोना से हो रही मौतों की बड़ी वजह?

उत्तराखंड. कोविड-19 के मरीज़ों से जुड़े आंकड़े दिन ब दिन सनसनीखेज़ होते जा रहे हैं. एक विश्लेषण यह कह रहा है कि राज्य में कुल...

हमास ने इजरायल पर दागे करीब 300 रॉकेट, भारतीय महिला की मौत, इमरजेंसी लागू

गाजा. इजरायल (Israel) और हमास (Hamas) के बीच हफ्तों से जारी तनाव अब हिंसक हो चुका है. रातों-रात दोनों पक्षों के बीच हुए हमलों में...

रेमेडिसिवर की कालाबाजारी करने के आरोप में दो युवतियां हिरासत में

अजमेर,  राजस्थान में अजमेर में कोतवाली थाना क्षेत्र में पुलिस ने रेमेडिसिवर इंजक्शन की कालाबाजारी करने के आरोप में कल दो युवतियों को हिरासत...

बड़वानी, कोरोना संक्रमण के चलते महाराष्ट्र के कुछ नगरों में लॉकडाउन के मद्देनजर पिछले वर्ष की तरह वहां से आगरा-मुंबई राष्ट्रीय राजमार्ग से मध्यप्रदेश होते हुए उत्तरप्रदेश, बिहार एवं राजस्थान के लिये मजदूरों का पलायन आरंभ हो गया है।

महाराष्ट्र के पुणे क्षेत्र में लॉकडाउन के मद्देनजर मजदूरों का जत्था बसों से मध्यप्रदेश- महाराष्ट्र सीमा के बिजासन तक कल पहुंचा, लेकिन बसों को मध्यप्रदेश से गुजरने की अनुमति नहीं होने के चलते उन्हें वहीं रुकना पड़ा।

महाराष्ट्र के पुणे में वैल्डिंग का काम करने वाले फरीद ने बताया कि लॉकडाउन के चलते रोजगार नहीं होने पर वे अपने 17 साथियों के साथ उत्तरप्रदेश के बाराबांकी लौट रहे हैं। एक अन्य मजदूर ने बताया कि वे पूना से अपने साथियों के साथ बस से मध्यप्रदेश महाराष्ट्र सीमा पर आकर सुबह से खड़े हैं, लेकिन उन्हें आगे जाने का साधन नहीं मिल रहा है। उन्होंने बताया कि उनके पास राशन समाप्त हो गया था और मदद नहीं मिलने के चलते वह उत्तरप्रदेश वापस लौट रहे हैं।

बड़वानी के जिला चिकित्सालय में कोविड-19 संक्रमितों की मृत्यु के बाद कल कथित तौर पर उनके शव मिलने में देरी के चलते रिश्तेदारों ने अपने वाहन लगाकर चक्का जाम कर दिया था। प्रशासनिक अमले ने आकर उन्हें समझाइश दी। उनका आरोप था कि रात्रि में रिश्तेदारों की मृत्यु के बावजूद शवों को नहीं दिया गया। दूसरी ओर अधिकारियों का कहना था कि कोविड-19 के चलते हुई मृत्यु के बाद विशेष प्रोटोकॉल का पालन करना पड़ता है, इसलिए विलंब हुआ।

बड़वानी की मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अनीता सिंगारे ने बताया कि उपलब्ध संसाधनों से संक्रमितों के उपचार की पूरी कोशिश की जा रही है। ऑक्सीजन की रिफलिंग प्रतिदिन कराई जा रही है। कल तीन संक्रमितों की मृत्यु हुई और 120 संक्रमित पाए गए हैं। जिले में अभी तक पाए गए 4365 संक्रमितो में से 3656 का उपचार हो चुका है, जबकि 35 की मृत्यु हुई है।

जिला कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा ने कल निजी चिकित्सा संस्थानों के संचालकों के साथ एक बार पुनः बैठक कर उनके साथ हालात पर चर्चा की। सौ बिस्तरों के एक निजी संस्थान मनोरमा अस्पताल द्वारा उनके यहां ऑक्सीजन प्लांट होने की जानकारी दिए जाने पर जिला कलेक्टर ने अस्पताल कोविड-19 सेंटर के रूप में उपयोग करने के लिए कहा है।

खरगोन जिले में कल 88 संक्रमित पाए गए। जिले में मिले 7309 संक्रमितों में से 6686 उपचारित हो चुके हैं, जबकि 126 की मृत्यु हुई है। यहाँ वैक्सीनेशन के प्रति उत्साह देखा गया और 91 केंद्रों पर कल 8654 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। यहाँ कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने के मामले में कल 92 लोगों को 6 घण्टे के लिए अस्थाई जेल भेजा गया और 65 लोगों के चालान बनाए गये हैं।

- Advertisement -

More articles

Latest article

आज़म खां की पत्नि ने दिया बड़ा बयान

रामपुर...... शहर विधायक एवम् आज़म खां की पत्नि डॉ तज़ीन फातिमा ने ईद के मौक़े पर कहा कि त्योहार ख़ुशी के लिए मनाये जाते...

बच्चों में कोविड-19 – क्या होते हैं लक्षण, क्या किया जाए

नई दिल्ली. एक तरफ जहां वयस्क और बुजुर्गों में कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) के लिए होड़ मची हुई है, वहीं फिलहाल एक वर्ग ऐसा भी...

तमिलनाडु और असम में नए मंत्रियों पर कितने हैं आपराधिक केस और कितनी है संपत्ति उनकी, जानें

असम में हुए ताजा चुनावों में 7 फीसद मंत्रियों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। वहीं 14 मंत्रियों की औसतन संपत्ति 4.78...

असम के नगांव में आकाशीय बिजली गिरने से 18 हाथियों की मौत

गुवाहाटी. असम (Assam) के नगांव जिले (Nagaon) में जंगल में आकाशीय बिजली गिरने से 18 हाथियों (Elephants) की मौत हो गई. वन विभाग के एक...

जब असम पहुंचे बंगाल के गवर्नर धनखड़ तो पैरों में गिर पड़ी महिलाएं, जानें वजह

गुवाहाटी-पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने रणपगली में कैंप का दौरा किया और लोगों से मुलाकात की। चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में...